Type to search

भारत-चीन के बीच 8 घंटे तक चली 13वें दौर की कमांडर स्तर की वार्ता

दुनिया देश बड़ी खबर

भारत-चीन के बीच 8 घंटे तक चली 13वें दौर की कमांडर स्तर की वार्ता

Share

भारत और चीन के बीच दो महीने के अंतराल के बाद रविवार को एक और दौर की उच्च स्तरीय सैन्य वार्ता हुई है. यह वार्ती करीब 8 घंटे तक चली है. सूत्रों ने बताया कि कोर कमांडर स्तर की 13वें दौर की वार्ता पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीन की तरफ मोल्डो सीमा बिंदु पर हुई. वार्ता सुबह करीब साढ़े दस बजे वार्ता शुरू हुई थी. इस वार्ता का उद्देश्य पूर्वी लद्दाख में बाकी के टकराव स्थलों से सैनिकों की वापसी की दिशा में आगे बढ़ना है.

इससे पहले गुरुवार को विदेश मंत्रालय (MEA) ने सूचित किया था कि उसे उम्मीद है कि बीजिंग द्विपक्षीय समझौतों और प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन करते हुए पूर्वी लद्दाख में LAC के साथ शेष मुद्दे के जल्द समाधान की दिशा में काम करेगा. लगभग तीन हफ्ते पहले विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने चीनी समकक्ष वांग यी को कहा था कि पूर्वी लद्दाख में बाकी के मुद्दों के जल्द समाधान के लिए दोनों पक्षों को काम करना होगा. यह वार्ता इसी पृष्ठभूमि में हुई है. दोनों देशों के विदेश मंत्रियों ने 16 सितंबर को दुशांबे में शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्मेलन से इतर मुलाकात की थी.

भारत और चीन के बीच 31 जुलाई को 12वें दौर की वार्ता हुई थी. कुछ दिन बाद, दोनों देशों की सेनाओं ने गोगरा से अपने सैनिकों की वापसी की प्रक्रिया पूरी की थी और इसे क्षेत्र में शांति एवं स्थिरता की बहाली की दिशा में एक बड़ा एवं उल्लेखनीय कदम माना गया था. रविवार को हुई वार्ता में भारतीय प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन ने की जो लेह स्थित 14वीं कोर के कमांडर हैं.

13th round of commander level talks between India and China lasted for 8 hours

Share This :
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *