Type to search

AAP ने दिल्ली LG विनय सक्सेना पर लगाया 1400 करोड़ के घपले का आरोप, CBI जांच की मांग

जरुर पढ़ें देश राजनीति

AAP ने दिल्ली LG विनय सक्सेना पर लगाया 1400 करोड़ के घपले का आरोप, CBI जांच की मांग

Share

आप विधायक दुर्गेश पाठक ने आरोप लगाया कि खादी विभाग में गांधी के नाम पर 1400 करोड़ का घोटाला हुआ है, उन्होंने कहा, ‘इस घोटाले को लेकर सीबीआई में मामला दर्ज हुआ, लेकिन इसमें LG का नाम तक नहीं लिखा गया और न सीबीआई ने रेड की, न FIR में नाम लिखा, लीपा पोती कर दी गई।’

गौर हो कि दिल्ली में उपराज्यपाल का पद संभालने से पहले विनय कुमार सक्सेना खादी विकास एवं ग्राम उद्योग आयोग के चेयरमैन रह चुके हैं, वह इस पद पर 25 अक्टूबर 2015 से लेकर 23 मई 2022 तक रहे। दिल्ली विधानसभा में विधायक दुर्गेश पाठक ने कहा कि उप राज्यपाल विनय कुमार सक्सेना ने खादी ग्रामोद्योग के अध्यक्ष रहते हुए 1400 करोड़ रुपए का घोटाला किया है। खादी ग्रामोद्योग का अध्यक्ष रहते हुए विनय कुमार सक्सेना ने नोटबंदी के समय नवंबर 2016 में पुराने नोट को नए में बदल कर घोटाला किया।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के नाम पर 1400 करोड़ का घोटाला किया गया। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के दौरान जब लाखों लोगों के व्यापार तबाह हो गए और लोगों की नौकरियां चली गईं तब एलजी विनय कुमार सक्सेना 1400 करोड़ का घोटाला करने में व्यस्त थे। उपराज्यपाल विनय सक्सेना के 1400 करोड़ का घोटाला उजागर करने वाले बहुत ग़रीब थे लेकिन हिम्मत नहीं हारी‌ हर फोरम में शिकायत की कि हमसे ग़लत काम कराया जा रहा है। इसके बावजूद जांच की अध्यक्षता ख़ुद आरोपी ने की। दोनों शिकायतकर्ताओं को सस्पेंड कर दिया और अपने भ्रष्ट साथियों का प्रमोशन कर दिया। दिल्ली के उप राज्यपाल के खिलाफ ईडी की रेड होनी चाहिए।

ये मनी लॉन्ड्रिंग और भ्रष्टाचार का मामला है। उप राज्यपाल के खिलाफ जब तक जांच चले इन्हें तब एलजी के पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। इन्हें उप राज्यपाल के पद से हटाया जाए। देश में 1400 करोड़ का भ्रष्टाचार करने वाले एलजी विनय कुमार सक्सेना के खिलाफ दिल्ली विधानसभा में आप विधायकों ने प्रदर्शन किया।

AAP accuses Delhi LG Vinay Saxena of 1400 crore scam, demands CBI inquiry

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *