Type to search

अफगानिस्तान / तालिबान नेताओं ने 15 साल से अधिक उम्र की लड़कियों और विधवाओं की मांगी सूची, कारण चौंकाने वाला

दुनिया देश

अफगानिस्तान / तालिबान नेताओं ने 15 साल से अधिक उम्र की लड़कियों और विधवाओं की मांगी सूची, कारण चौंकाने वाला

Share

एक नई रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अफगानिस्तान में तालिबान युवा लड़कियों को सेक्स स्लेव बनाने के लिए घरों से उठाया जा रहा हैं। सूत्रों के मुताबिक तालिबान ने स्थानीय नेताओं से 12 साल की लड़कियों की सूची मांगी थी। अब तालिबान नेता अपहरण कर महिलाओं को शादी के लिए मजबूर करने की कोशिश कर रहे है।

अफगानिस्तान में महिलाओं के लिए हिजाब अनिवार्य कर दिया गया है। यह कदम सख्त शरिया कानून की ओर लौटने का इशारा देता है। अफगानिस्तान में महिलाएं अब पुरुष साथी के बिना घर नहीं छोड़ सकतीं और उन्हें हिजाब पहनना ही होगा। कई स्कूल और व्यवसाय बंद हो गए हैं। अफगानिस्तान में अब यदि उनकी शिक्षिका महिला हैं तो स्थानीय महिलाओं को स्कूल जाने की अनुमति है। तालिबान ने चेतावनी दी है कि नियमों का उल्लंघन करने वाले से सख्ती से निपटा जाएगा।

तालिबान नेताओं के इस आदेश का क्या मतलब है?


जुलाई की शुरुआत में, तालिबान नेताओं ने बदख्शां और तखर के प्रांतों पर नियंत्रण कर लिया और स्थानीय धार्मिक नेताओं को तालिबान लड़ाकों से शादी के लिए 15 वर्ष से अधिक उम्र की लड़कियों और 45 वर्ष से कम उम्र की विधवाओं की सूची प्रदान करने का आदेश दिया। फिलहाल यह पता नहीं चल पाया है कि इन आदेशों का पालन हुआ हैं या नहीं। यदि किसी महिला का जबरन विवाह किया गया है, तो महिलाओं और लड़कियों को पाकिस्तान के वज़ीरिस्तान ले जाया जाएगा और फिर से इस्लाम में स्वीकार करने के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा।

क्या होगा आने वाले दिनों में


तालिबान का निर्देश आने वाले समय की एक कड़ी चेतावनी है और 1996-2001 के तालिबान के क्रूर शासन की याद दिलाता है जब महिलाओं को बार-बार मानवाधिकार, रोजगार और शिक्षा से वंचित किया जाता था, बुर्का पहनने के लिए मजबूर किया जाता था और प्रतिबंधित किया जाता था। पुरुष अभिभावक या महरम के बिना घर छोड़ना महिलाओं के लिए वर्जित था। तालिबान के इस दावे के बावजूद कि उन्होंने अपना रवैया बदल दिया हैं, तालिबान का महिलाओं को जातीय गुलामी में धकेलने के नए इरादें और तालिबान की हालिया कार्रवाइयां इसके दावों का खंडन करते हैं।

Share This :
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Join #Khabar WhatsApp Group.