Type to search

काल के गाल में समा गईं 18 जिंदगियां

देश

काल के गाल में समा गईं 18 जिंदगियां

Share
Air India

केरल में कोझिकोड एयरपोर्ट पर शुक्रवार रात एयर इंडिया का एक विमान हादसे का शिकार हो गया, जिसमें 190 यात्री सवार थे। विमान दुबाई से यात्रियों को लेकर आ रहा था, तभी लैंडिग के दौरान विमान रनवे पर फिसल गया। हादसे में पायलट, को-पायलट समेत 18 लोगों की मौत हो गई, जबकि 127 लोग घायल बताए जा रहे हैं। डीजीसीए के मुताबिक हादसा भारी बारिश की वजह से हुआ। मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

इस विमान के पायलट कैप्टन दीपक वसंत साठे और कैप्टन अखिलेश कुमार थे। कैप्टन साठे बेहद ही अनुभवी पायलट थे और वे वायु सेना अकादमी द्वारा स्वॉर्ड ऑफ ऑनर से भी सम्मानित किए गए थे। कोरोना वायरस की वजह से वे भी दुबई में फंस गए थे और  लंबे समय के बाद अपने वतन लौटने को लेकर वह बहुत खुश थे लेकिन उन्हें क्या पता था कि मौत उनका इंतजार कर रही है। साठे एयर फोर्स के टेस्ट पायलट रह चुके थे। एयर फोर्स के टेस्ट पायलट बहुत सारे एयरक्राफ्ट पर टेस्ट करते हैं। पायलट ने अपनी जान गंवाते हुए अधिकांश यात्रियों की जान बचा ली।

देश के सबसे खतरनाक रनवे में शुमार है कालीकट हवाईअड्डा –
कालीकट अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा कोझीकोड शहर के केंद्र से 28 किमी (17 मील) और मलप्पुरम से 25 किमी (16 मील) दूर करीपुर में स्थित है। कालीकट एयरपोर्ट देश के खतरनाक एयरपोर्ट में शुमार किया जाता है। उसका रनवे काफी छोटा है। यह पहाड़ी पर बना है। उसके दोनों ओर खाईं है। केरल में कोझीकोड हवाई अड्डे के अलावा मंगलोर का हवाई अड्डे और मिजोरम में लेंगपुई हवाई अड्डे के पास टेबलटॉप रनवे (पहाड़ि‍यों पर बने हवाईअड्डा) हैं। इन हवाई अड्डों पर रनवे पहाड़ियों की चोटी पर स्थित हैं। एक पायलट जब विमान लैंडिंग के लिए नीचे आता है तो मैदानों के समान स्तर पर होने का दृष्टि भ्रम पैदा करते हैं। बारिश के मौसम में ये रनवे काफी खतरनाक हो जाते हैं। यहां पर विमानों के फिसलने का खतरा होता है।

पायलट ने आखिरी वक्त तक की थी विमान को बचाने की कोशिश –
एयरपोर्ट अधिकारियों के हवाले से यह बात भी सामने आ रही है कि इस दुर्भाग्यशाली उड़ान के कमांडर डीवी साठे ने विमान को बचाने की अंतिम दम तक कोशिश की। वे हादसे को तो नहीं टाल पाए, लेकिन अपनी जान देकर भी विमान के अधिकतर यात्रियों की जान बचाने में कामयाब रहे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पायलट ने लैंडिंग से पहले आसमान में कई चक्कर लगाए। पायलट ने विमान को बचाने की पूरी कोशिश की, मगर आखिरी वक्त में उतारना ही पड़ा। भारी जमा पानी व विमान के फिसलने से हादसा टाला नहीं जा सका।

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह ने क्या कहा –
नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि  एयर इंडिया की दुबई-कालीकट उड़ान (IX-1344) शुक्रवार की शाम 7.41 बजे लैंडिंग करते वक्त फिसल गई।  रनवे पर विजिबिलिटी कम थी। रनवे पर पानी भरा हुआ था। फिसलने के बाद विमान 35 फीट की खाई में जा गिरा। हादसे में विमान के दो टुकड़े हो गए. इस हादसे के बाद नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने इमरजेंसी बैठक बुलाई है।

पायलट डीवी साठे वायुसेना में रह चुके थे विंग कमांडर –
कैप्टन डीवी साठे इंडियन एयरफोर्स में विंग कमांडर रह चुके थे। एयर इंडिया में शामिल होने से वह पहले भारतीय वायुसेना में एक प्रायोगिक परीक्षण पायलट थे। बताया जा रहा है कि कैप्टन दीपक साठे मिग 21 के भी पायलट थे, जो 17 स्क्वाड्रन (गोल्डन एरो) अंबाला में रहे। स्क्वाड्रन 1999 कारगिल युद्ध में भी गया था। कैप्टन साठे वायुसेना प्रशिक्षण अकादमी में प्रशिक्षक भी रहे।

डीवी साठे ने एयरफोर्स में लंबा समय बिताया था। उनको 11 जून 1981 को एयरफोर्स में कमीशन मिली थी और 22 साल की सेवा के बाद 30 जून 2003 को रिटायर हुए थे। एयरफोर्स में उन्होंने एएफए में स्वॉर्ड ऑफ ऑनर जीता था और फाइटर पायलट बने थे। एयर इंडिया एक्सप्रेस 737 में जाने से पहले दीपक एयर इंडिया के एयरबस 310 की उड़ान भी भर चुके थे। इसके अलावा वह एचएएल के टेस्‍ट पायलट भी रहे थे। जानकारों की मानें तो यह पायलट की समझदारी ही थी, जिसकी वजह से ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों की जान बच गई।

राष्ट्रपति ने राज्यपाल से स्थिति का लिया जायजा –
विमान हादसे को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने केरल के राज्यपाल से बात की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि केरल के कोझिकोड में एयर इंडिया के के विमान दुर्घटना के बारे में सुनकर बहुत दुख हुआ है। हादसे को लेकर केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान से बात कर स्थिति के बारे में जानकारी ली। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मेरी संवेदना दुर्घटना प्रभावित यात्रियों, चालक दल के सदस्यों और उनके परिवारवालों के साथ है।

पीएम मोदी ने भी किया ट्वीट –
विमान हादसे पर पीएम मोदी ने भी गहरा दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि कोझिकोड में हुए विमान हादसे से आहत हूं। मेरे विचार उन लोगों के साथ हैं, जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया है। घायलों को जल्द ठीक किया जाए। इसके साथ ही पीएम मोदी ने बताया हादसे को लेकर उन्होंने केरल के सीएम पिनाराई से फोन पर बात की है।

https://twitter.com/ANI/status/129192710095849472
Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *