Type to search

ड्रोन अटैक में ढेर हुआ अल जवाहिरी, जो बाइडेन ने की मौत की पुष्टि

जरुर पढ़ें दुनिया देश

ड्रोन अटैक में ढेर हुआ अल जवाहिरी, जो बाइडेन ने की मौत की पुष्टि

Share on:

नई दिल्ली – आतंकवाद के खिलाफ अमेरिका ने एक बार फिर से बड़ा प्रहार किया है. अमेरिका ने अफगानिस्तान में आतंकवाद विरोधी अभियान के तहत एक सीक्रेट ऑफरेशन में अल-कायदा चीफ अयमान अल-जवाहिरी को हवाई हमले में रविवार सुबह 6 बजकर 18 मिनट पर मार गिराया. राष्ट्रपति जो बाइडेन ने खुद इसकी पुष्टि की है.

जानकारी के मुताबिक, अल-जवाहिरी को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में सीआईए की तरफ से किए गए ड्रोन हमले में ढेर किया गया. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि जवाहिरी 9-11 की साजिश में शामिल था. इस हमले में 2977 लोगों की मौत हो गई थी. अल जवाहिरी पर 25 मिलियन डॉलर यानी 1.97 अरब रुपए इनाम था.

अल जवाहिरी ने काबुल में एक घर में पनाह ले रखी थी. अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक, तालिबान सरकार को अल जवाहिरी के घर में मौजूद होने की जानकारी भी थी. खास बात ये है कि जिस घर में जवाहिरी छिपा था, वह तालिबान के नेता सिराजुद्दीन हक्कानी के काफी करीबी का था. इतना ही नहीं जिस घर में जवाहिरी छिपा था, वह अमेरिकी दूतावास और अमेरिकी सैन्य अड्डे के काफी पास था. अमेरिका ने पिछले साल अगस्त में इन्हें खाली कर दिया था.

इसके लिए अमेरिकी खुफिया विभाग ने कई महीनों तक तैयारियां कीं. यहां तक कि जवाहिरी जिस घर में छिपा था, उसका भी एक छोटा सा मॉडल तैयार कर जो बाइडेन के लिए व्हाइट हाउस सिचुएशन रूम के अंदर रखा गया था ताकि विकल्पों पर चर्चा हो सके. जवाहिरी को अमेरिका पर 9-11 हमले के मास्टरमाइंड्स में एक माना जाता है. अमेरिका के एक सीनियर अफसर ने स्ट्राइक और प्लानिंग के बारे में जानकारी दी. कई महीनों की प्लानिंग के बाद शनिवार को स्ट्राइक करने का फैसला किया गया. इस दौरान बाइडेन ने अमेरिकी अधिकारियों को साफ निर्देश दिया था कि इस ऑपरेशन में किसी भी नागरिक को नुकसान नहीं पहुंचना चाहिए, चाहें वे जवाहिरी के परिवार के लोग ही क्यों न हों?

अंतिम विचार-विमर्श और ड्रोन हमले की अनुमति के दौरान बाइडेन कोरोना संक्रमित भी हो गए. उन्होंने सोमवार को व्हाइट हाउस की बालकनी से इस स्ट्राइक की और जवाहिरी के मारे जाने की पुष्टि की. बाइडेन का ये ऐलान उनकी छवि के लिए काफी अहम माना जा रहा है, दरअसल, अफगानिस्तान से 11 महीने पहले अमेरिका की सेना को वापस बुलाने के बाद से उनकी लगातार आलोचनाएं हो रही थीं.

जो बाइडेन ने कहा, अब न्याय हो गया है. आतंकी जवाहिरी की मौत हो गई है. बाइडेन ने कहा, ”कोई फर्क नहीं पड़ता कितना समय हुआ, कोई फर्क नहीं पड़ता, तुम कहां छिपे हो. अगर तुम हमारे लोगों के लिए खतरा हो, अमेरिका तुम्हें खोज निकालेगा.” 2011 में ओसामा बिन लादेन की मौत के बाद जवाहिरी ने अल-कायदा को अपने नियंत्रण में ले लिया था. वह और लादेन संयुक्त राज्य अमेरिका पर 9/11 के हमलों के मास्टरमाइंड थे. जवाहिरी वह अमेरिका के “मोस्ट वांटेड आतंकवादियों” में से एक था.

शनिवार को ड्रोन से Hellfire मिसाइल दागी गईं. मिसाइलों से काबुल में जवाहिरी के घर की बालकनी को टारगेट किया गया. इसके बाद खुफिया चैनलों ने इसकी पुष्टि की कि जवाहिरी मारा गया है.

Al Zawahiri killed in drone attack, Joe Biden confirms death

Asit Mandal

Share on:
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *