Type to search

48 घंटे में अमेरिका ने लिया बदला, ISIS-K पर की एयरस्ट्राइक

दुनिया देश

48 घंटे में अमेरिका ने लिया बदला, ISIS-K पर की एयरस्ट्राइक

Share

 काबुल एयरपोर्ट में हुए दो आत्मघाती बम धमाकों में 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गयी। इसका असर सबसे ज्यादा अमेरिका पर हुआ है। अमेरिका के 13 कमांडर मारे गए। इस बीच एक दिन बाद लोगों को निकालने के लिए राजधानी काबुल से उड़ानें फिर से शुरू हो गईं। वहीं अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के राष्ट्रीय सुरक्षा दल ने राष्ट्रपति को सूचित किया है कि काबुल में एक और आतंकी हमला होने की आशंका है।

समाचार एजेंसियों ने बताया कि इस्लामिक स्टेट द्वारा दावा किए गए बमबारी में 169 अफगान और 13 अमेरिकी सेवा सदस्यों के मारे जाने के बाद अमेरिका ने जवाबी हमला किया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक मानवरहित ड्रोन के जरिए नांगरहार में अमेरिकी सेना ने हमले किए हैं। दावा किया जा रहा है कि काबुल ब्लास्ट के साजिशकर्ता को अमेरिका ने ढेर कर दिया है।

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के राष्ट्रीय सुरक्षा दल ने राष्ट्रपति को सूचित किया है कि काबुल में एक और आतंकी हमला होने की आशंका है और अफगानिस्तान की राजधानी में हवाईअड्डे पर सुरक्षा के सर्वोच्च उपाय किए जा रहे हैं। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को वर्तमान राष्ट्रपति जो बाइडन की अफगान नीति की आलोचना करते हुए कहा कि अमेरिका को जितनी बुरी स्थिति में डाला जा सकता था, वह उतनी खराब स्थिति में है। यह ऐसी स्थिति है कि जिसकी किसी ने दो सप्ताह पहले भी कल्पना नहीं की थी। हम ऐसी स्थिति में होंगे जहां तालिबान और बाकी लोग हमें निर्देश दे रहे होंगे और हमसे कहेंगे कि 31 अगस्त को निकल जाओ।

America took revenge in 48 hours, airstrike on ISIS-K

Share This :
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Join #Khabar WhatsApp Group.