Type to search

अंकिता सिंह मर्डर केस : युवती को जिंदा जलाने की घटना पर सीएम सोरेन बोले- आरोपी को जल्द और सख्त सजा मिले

जरुर पढ़ें देश

अंकिता सिंह मर्डर केस : युवती को जिंदा जलाने की घटना पर सीएम सोरेन बोले- आरोपी को जल्द और सख्त सजा मिले

Share

झारखंड के दुमका में मंगलवार को शाहरुख नामक एक युवक ने एकतरफा प्यार में असफल होने पर 12वीं कक्षा में पढ़ने वाली 19 साल की युवती अंकिता सिंह को जिंदा जला दिया था, जिससे कल रविवार को अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने दुमका में लड़की के हत्या की घटना को लेकर आरोपी को जल्द से जल्द सजा दिलाने की बात कही है.

सीएम हेमंत सोरेन ने कहा, समाज में कई तरह की कुरीतियां देखने को मिल रही हैं. यह घटना दिल दहला देने वाली है और कानून अपना काम कर रहा है. आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. हमारी कोशिश है कि उसे जल्द से जल्द सजा मिले. सीएम सोरेन दुमका ने कहा, ऐसे लोगों को माफ नहीं किया जाना चाहिए, उन्हें सख्त से सख्त सजा दी जानी चाहिए. ऐसी घटनाओं के लिए मौजूदा कानूनों को और मजबूत करने के लिए कानून लाया जाना चाहिए.

बता दें कि घटना के बाद इलाके में स्थिति तनावपूर्ण होने के बाद प्रशासन ने वहां धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगा दी है. दुमका के पुलिस अधीक्षक अंबर लकड़ा ने बताया कि घटना में 90 फीसदी झुलस गई युवती को इलाज के लिए रांची स्थित रिम्स में भर्ती कराया गया था, जहां रविवार तड़के ढाई बजे उसकी मौत हो गई. दुमका के एसडीओ महेश्वर महतो ने बताया कि युवती के मरने की सूचना दुमका पहुंचने पर वहां स्थिति तनावपूर्ण हो गई, वहां दोषी को फांसी देने की मांग को लेकर विश्व हिंदू परिषद (विहिप) और बजरंग दल ने जमकर नारेबाजी की और विरोध प्रदर्शन किया. विरोध प्रदर्शनों के बाद हालात को ध्यान में रखते हुए दुमका शहर में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है.

इस सिलसिले में गोड्डा से भाजपा सांसद डा. निशिकांत दूबे ने ट्वीट किया है,”काश दुमका की बेटी अंकिता को हमलोग शाहरुख़ जैसे दरिंदे से बचा पाते.” सांसद ने आगे दुमका के पुलिस उपाधीक्षक की भूमिका पर सवाल उठाते हुए लिखा है, ”मुस्लिम पदाधिकारी नूर मुस्तफ़ा का अपराधी का साथ देना देश के लिए घातक. संथालपरगना अपनी बेटी की हत्या के बाद उद्वेलित है.”

इस बीच पुलिस अधीक्षक ने बताया कि दुमका में स्थिति नियंत्रण में है. गौरतलब है कि 23 अगस्त को अल्पसंख्यक समुदाय से ताल्लुक रखने वाले शाहरुख ने एकतरफा प्यार में असफल होने पर पड़ोस के व्यवसायी संजीव सिंह की 19 वर्षीय बेटी अंकिता पर देर रात सोते समय खिड़की से पेट्रोल उड़ेल कर आग लगा दी थी, जिसमें वह 90 प्रतिशत जल गयी थी. घटना से क्षेत्र में सांप्रदायिक तनाव व्याप्त हो गया है और बजरंग दल एवं विश्व हिंदू परिषद के नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने कल दुमका बाजार में बंद रखा और विरोध प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने शाहरुख के खिलाफ फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाने की मांग की है.

पुलिस ने बताया कि घटना के बाद अंकिता को रांची स्थित रिम्स में भर्ती कराया गया था, जहां कार्यपालक दंडाधिकारी चन्द्रदीप सिंह ने उसका बयान दर्ज किया, जिसे अब पीड़िता का मृत्यु पूर्व अंतिम बयान मान लिया गया है. पुलिस ने बताया कि शाहरुख पिछले कुछ समय से अंकिता को परेशान कर रहा था और जब वह प्रेम संबंध रखने को राजी नहीं हुई तो आरोपी ने धमकी दी थी, अगर मेरा कहा नहीं मानेगी तो तुम्हें मार डालूंगा. पुलिस ने आरोपी युवक शाहरुख को गिरफ्तार कर मंगलवार को ही न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था.

Ankita Singh Murder Case: On the incident of burning the girl alive, CM Soren said – the accused should be punished sooner and stricter

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *