Type to search

महागठ सुकेश का दिल्ली LG को एक और पत्र…जेल में प्रताड़ित करने का आरोप, फिर लिया AAP का नाम

क्राइम देश

महागठ सुकेश का दिल्ली LG को एक और पत्र…जेल में प्रताड़ित करने का आरोप, फिर लिया AAP का नाम

Share
Mahagath Sukesh

मंडोली जेल में बंद महाठग सुकेश चंद्रशेखर ने दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना को एक और पत्र लिखा है, जिसमें उसने मांग की है कि उसे और उसकी पत्नी को दिल्ली से बाहर किसी अन्य जेल में स्थानांतरित कर दिया जाए. सुकेश ने आरोप लगाए हैं कि उस पर आम आदमी पार्टी के नेताओं के खिलाफ अपनी शिकायत वापस लेने के लिए लगातार दबाव बनाया जा रहा है और अंजाम भुगतने की धमकी दी जा रही ​है. उसने जेल के अंदर सीआरपीएफ कर्मियों द्वारा खुद पर हमला किए जाने का आरोप भी लगाया है.

मनी लॉन्ड्रिंग केस में जेल में बंद सुकेश चंद्रशेखर की ओर से पिछले 33 दिन में दिल्ली एलजी को यह 5वां लेटर है. इससे पहले उसने अपनी चिट्ठी में लिखा था कि मैंने एलजी के सामने जो मुद्दे उठाए हैं अगर वे झूठे निकले तो मैं फांसी पर चढ़ने को तैयार हूं, लेकिन अगर आरोप सही साबित हुए तो क्या अरविंद केजरीवाल अपने पद से इस्तीफा देंगे या फिर राजनीति से सन्यास लेंगे? सुकेश ने दिल्ली के उपराज्यपाल को लिखी अपनी पहली चिट्ठी में आम आदमी पार्टी पर मंडोली जेल में उसे सुरक्षा देने के नाम पर 10 करोड़ रुपए की वसूली का आरोप लगाया था. अपनी अन्य चिट्ठियों में उसने आम आदमी पार्टी पर राज्यसभा सीट के बदले 50 करोड़ रुपए वसूलने और जेल में अपनी जान के खतरे की बात कह चुका है.

सुकेश चंद्रशेखर ने दिल्ली एलजी को लिखे अपने चौथे शिकायती पत्र में कहा था, ‘मुझसे सवाल किया गया कि मैं चुनाव के दौरान ईडी और सीबीआई की बात क्यों कर रहा हूं. दरअसल, पहले मैं सबकुछ नजरअंदाज करने की कोशिश कर रहा था, लेकिन जेल में मुझे लगातार धमकियां मिल रही हैं. मैं सच बोल रहा हूं और किसी से नहीं डरता. सतेंद्र जैन ने मुझसे पंजाब चुनाव में पैसे मांगे थे. फिर ये सब बढ़ता चला गया और मैंने कानून के अनुसार आगे बढ़ने का फैसला किया. मैं केजरीवाल से कहना चाहता हूं कि ड्रामा बंद करो. वह मुद्दे को डाइवर्ट करने की कोशिश कर रहे हैं.’ इस चिट्ठी में सुकेश ने डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के बयान का भी जिक्र किया थ्रा. उसने लिखा था, ‘मनीष सिसोदिया ने मुझसे कहा था कि मैं ये इसलिए कर रहा हूं, क्योंकि मेरी मदद की जा रही है, लेकिन मुझे मदद की जरूरत नहीं है. क्योंकि मैं खुद को बेगुनाह साबित करने में सक्षम हूं.’

Another letter from Mahagath Sukesh to Delhi LG… alleged torture in jail, again named AAP

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *