Type to search

पुतिन के इस कदम से भारत को बड़ा नुकसान! 150 रुपए लीटर हो जाएगा पेट्रोल-डीजल

जरुर पढ़ें दुनिया देश

पुतिन के इस कदम से भारत को बड़ा नुकसान! 150 रुपए लीटर हो जाएगा पेट्रोल-डीजल

Share

रूस और यूक्रेन युद्ध के 14वें दिन पालैंड ने अपने सभी मिग-29 फाइटर फ्लेन यूक्रेन को देने का ऐलान किया है. रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका ने कहा है कि यह कदम उचित नहीं है. साथ ही चिंता पैदा करने वाला है. दूसरी ओर रूस ने बुधवार को सीज फायर की घोषणा की है, ताकि युद्ध में फंसे नागरिकों को सही सलामत निकाला जा सके.

इस बीच अमेरिका और ब्रिटेन ने रशिया के तेल और गैस आयात पर प्रतिबंध लगाए दिया है, लेकिन रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने चेतावनी दी है कि ऐसा होने से वो अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की सप्लाई रोक देंगे. इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि यूरोप को उसकी जरूरत की गैस सप्लाई भी बंद कर दी जाएगी. हो सकता है जल्द आपको एक लीटर पेट्रोल के लिए 150 रुपए देने पड़ जाएं। ऐसा इसलिए क्योंकि कच्चे तेल की कीमतें अब रिकॉर्ड तोड़ने जा रही हैं। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें (Crude Oil Price) 300 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गयी, जो पहले से ऐतिहासिक स्तर पर हैं. रूस और यूक्रेन युद्ध की वजह से कच्चे तेल की कीमतें 139 डॉलर प्रति बैरल पहुंच गई, जो 2008 के बाद की सबसे ज्यादा कीमतें हैं.

रूसी उप प्रधानमंत्री अलेक्जेंडर नोवाक ने एक बयान में कहा, ‘यह बिल्कुल स्पष्ट है कि रूसी तेल की अस्वीकृति से वैश्विक बाजार के लिए विनाशकारी परिणाम होंगे. कीमतों में अप्रत्याशित उछाल होगा. यह 300 डॉलर प्रति बैरल होगा.’ नोवाक ने कहा कि रूस से प्राप्त होने वाले तेल की मात्रा को बदलने के लिए यूरोप को एक वर्ष से अधिक समय लगेगा और उसे काफी अधिक कीमत चुकानी होगी.

इसका सीधा असर भारत और भारत के आम लोगों की जेब पर पड़ेगा. कच्चे तेल की कीमतें बढ़ने के बाद हो सकता है कि पेट्रोल आने वाले महीनों में 150 रुपये प्रति लीटर के आंकड़े को भी पार कर जाए. हालांकि ये सरकार के ऊपर है कि वो अपनी जेब से कितने पैसे खर्च कर आम लोगों को राहत दे.

Big loss to India due to this move of Putin! Petrol and diesel will be Rs 150 a liter

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *