Type to search

छत्तीसगढ़ : कांग्रेस विधायक चंद्राकर की गुंडागर्दी

देश राजनीति

छत्तीसगढ़ : कांग्रेस विधायक चंद्राकर की गुंडागर्दी

Share
MLA Chandrakar

छत्तीसगढ़ में सत्ताधारी कांग्रेस के विधायक विनोद चंद्राकर ने सरकारी दफ्तर में घुसकर गुंडागर्दी की है. मामला राज्य के महासमुंद जिले का है. विधायक विनोद चंद्राकर पर आरोप है कि उन्होंने अपने समर्थकों के साथ आबकारी कार्यालय में घुसकर कर्मचारियों के साथ मारपीट की. मारपीट के दौरान एक कर्मचारी की आंख भी फूट गई. बड़ी बात यह है कि इस मामले में पुलिस ने अबतक केस दर्ज नहीं किया है.

कर्मचारी ने स्थानीय कांग्रेस विधायक पर मारपीट करवाने का आरोप लगाया है। पुलिस ने इस मामले में नगर पालिका परिषद के एक पार्षद समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पीड़ित कर्मचारी ने आरोप लगाया कि महासमुंद कांग्रेस विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर के इशारे पर उसकी पिटाई की गई। हालांकि विधायक ने इस आरोप का खंडन किया है। महासमुंद की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा तेम्भुरकर साहू ने बताया कि घटना मंगलवार दोपहर जिलाधिकारी कार्यालय स्थित आबकारी कार्यालय में हुई।

बताया जा रहा है कि आबकारी अधिकारी विधायक विनोद चंद्राकर के मनमुताबिक काम नहीं कर रहे थे, इसलिए उन्होंने अधिकारियों के साथ मारपीट की. मारपीट के दौरान जिस कर्मचारी की आंख फूटी है, वह लिपिक था. मारपीट के बाद इस घटना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें विधायक विनोद चन्द्राकर खुद मौजूद हैं.

पुलिस अधिकारी ने कहा कि शहर के कोतवाली थाना क्षेत्र की पुलिस ने आबकारी विभाग के कर्मचारी लीलाराम साहू की शिकायत पर पार्षद बबलू हरपाल और दीपक ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया है। सरकारी लिपिक आबकारी विभाग में सरकारी लिपिक और घटना के दौरान घायल हुए लीलाराम शाहु ने कहा, ‘’महासमुंद में विधायक विनोद चंद्राकर ने अपने साथी दीपक ठाकुर और अन्य लोगों के साथ आकर मुझसे मारपीट की और मीरा मोबाइल भी छीन लिया. मैं एक्ससाइज ऑफिस में ऑपरेटर के पदपर काम करता हूं.’’

विधायक द्वारा की गई मारपीट में घायल आबकारी कर्मचारी से इसकी लिखित शिकायत थाने में भी की, लेकिन अबतक विधायक या उनके साथियों के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है. बताया जा रहा है कि महासमुंद में आबकारी विभाग में विधायक सरकारी शराब दुकानों अपने मनमुताबिक काम करवाना चाहते हैं, लेकिन सरकारी अधिकारी इसके लिए तैयार नहीं हैं जिसके चलते बार बार विधायक आबकारी कार्यालय में घुसकर कर्मचारी और अधिकारियों को धमकी देते हैं और उनकी पिटाई करते हैं.

राज्य के मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी ने इस मामले में विधायक को बर्खास्त कर उन्हें गिरफ्तार करने की मांग की। भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष मोतीलाल साहू ने आरोप लगाया कि जबसे कांग्रेस सत्ता में आई तब से अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि शर्मनाक बात यह है कि कांग्रेस के विधायक और नेता भी सत्ता के अहंकार में पेशेवर अपराधियों जैसा व्यवहार करने लगे हैं।

Chhattisgarh: Congress MLA Chandrakar’s hooliganism

Share This :
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *