Type to search

कोरोना से डरे चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग, चीन में मौत के बढ़ते आंकड़े पर पहली बार तोड़ी चुप्पी

दुनिया

कोरोना से डरे चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग, चीन में मौत के बढ़ते आंकड़े पर पहली बार तोड़ी चुप्पी

Share
corona

चीन में कोरोना अब तक की सबसे तेज रफ्तार से फैल रहा है. चीन से जीरो कोविड पॉलिसी हटाने के बाद कोरोना के मामलों में बेतहाशा वृद्धि हुई है. अनुमान है कि अगले कुछ महीनों में चीन में कोरोना से लगभग 10 लाख लोगों की मौत हो सकती है. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने जीरो कोविड पॉलिसी हटने के बाद सोमवार को पहली बार बयान दिया.

जिनपिंग ने कहा कि लोगों की जिंदगी बचाने की दिशा में कदम उठाएं जाएंगे. उन्होंने कहा कि हमें बेहतर तरीके से कोरोना से निपटने के लिए एक देशभक्तिपूर्ण हेल्थ कैंपेन शुरू करना चाहिए. कोरोना से बचाव और इसके नियंत्रण के लिए कम्युनिटी स्ट्रक्चर को मजबूत करना होगा ताकि लोगों की जिंदगियां बचाई जा सके.

चीन सरकार ने कोरोना के कहर को देखते हुए बेहद कड़े प्रतिबंध लागू किए थे. लेकिन अब ये पाबंदियां हटने के बाद चीन में सबसे तेज गति से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं. अनुमान है कि अगले कुछ महीनों में लगभग 10 लाख लोगों की मौत हो सकती है. देश की एक बड़ी आबादी दवाइयों की किल्लत का सामना कर रही है. देश में आपात मेडिकल सेवाएं सुस्त पड़ी हैं. देश में बुजुर्गों की बड़ी आबादी को वैक्सीन नहीं लगी है.

जिनपिंग ने कहा कि मौजूदा समय में चीन में कोरोना से बचाव और नियंत्रण से एक नई स्थिति पैदा हो गई है. हमें और अधिक मुस्तैदी से एक हेल्थ कैंपेन शुरू करना चाहिए. महामारी से बचाव के लिए एक ऐसी कम्युनिटी स्ट्रक्चर तैयार करना है, जिससे प्रभावी तरीके से लोगों की जिंदगियां बच सकें. देश में अस्पताल मरीजों से कब्रिस्तान शवों से पटे पड़े हैं. ऐसे में चीन के नेशनल हेल्थ कमिशन ने ऐलान किया कि वह कोरोना से देशभर में संक्रमण और मौतों के आंकड़े जारी नहीं करेगा.

चीन ने स्वीकार किया है कि मास टेस्टिंग खत्म करने के बाद कोरोना के प्रकोप को ट्रैक करना असंभव हो गया है क्योंकि अब कोरोना के टेस्ट नतीजे सरकार से साझा करना लोगों के लिए अनिवार्य नहीं रह गया. चीन में अगल महीने छुट्टियों की वजह से लाखों लोग अपने घर लौटेंगे, जिससे कोरोना विस्फोट हो सकता है. चीन ने न्यू ईयर और 21 जनवरी से शुरू हो रहे लूनर न्यू ईयर के दौरान दवाइयों की सप्लाई सुनिश्चित करने को कहा है.

हाल के दिनों में चीन के झेजियांग प्रांत में स्वास्थ्य अधिकारियों ने अनुमान जताया है कि यहां प्रतिदिन 10 लाख लोग कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं. किंगदाओ में प्रतिदिन की दर से पांच लाख कोरोना के केस सामने आ रहे हैं. वहीं, चीन के दक्षिणी शहर डोंगगुआन में ढाई लाख से तीन लाख कोरोना के केस सामने आ रहे हैं. बता दें कि साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट ने लीक दस्तावेज के हवाले से बताया है कि चीन के नेशनल हेल्थ कमिशन का मानना है कि 1 से 20 दिसंबर के बीच देश में करीब 25 करोड़ लोग संक्रमित हो चुके हैं.

यानी सिर्फ 20 दिन में ही देश की लगभग 18 फीसदी आबादी संक्रमण की चपेट में आ चुकी है. हालांकि, कोरोना से अभी चीन में और तबाही मचनी है. महामारी विशेषज्ञ एरिक फिगल डिंग का अनुमान है कि अगले 90 दिनों में चीन की 60 फीसदी और दुनिया की 10 फीसदी आबादी के कोरोना संक्रमित होने की आशंका है. अगर ऐसा होता है तो अगले तीन महीने में ही चीन के लगभग 90 करोड़ लोग कोरोना संक्रमित हो जाएंगे. इस दौरान लाखों की संख्या में मौतें होने की आशंका भी है.

China’s President Jinping, scared of Corona, broke silence for the first time on the increasing death toll in China

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *