Type to search

Delhi में डराने लगी कोरोना की रफ्तार, पॉजिटिविटी रेट में 3 गुना बढ़े

जरुर पढ़ें देश

Delhi में डराने लगी कोरोना की रफ्तार, पॉजिटिविटी रेट में 3 गुना बढ़े

Share

दिल्ली में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है. राजधानी दिल्ली में कोरोना के पॉजिटिविटी रेट में तीन गुना बढ़ोतरी हुई है. एक सप्ताह पहले तक जहां दिल्ली में कोविड -19 की सकारात्मकता दर (पॉजिटिविटी रेट) 1% से कम थी, सोमवार को बढ़कर 2.7% हो गई. यहां बताना जरूरी है कि पिछले 24 घंटों में परीक्षण किए गए केवल 5079 सैंपल्स में से दिल्ली में कोरोना वायरस के 137 नए केस सामने आए हैं.

हालांकि, यह स्पष्ट नहीं है कि क्या यह पॉजिटिविटी रेट मामलों में एक और उछाल का संकेत देता है. विशेषज्ञों का कहना है कि जब तक अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या में कमी है, तब तक चिंता की कोई बात नहीं. एक खबर के मुताबिक, राजधानी में कोरोना की सकारात्मकता दर में वृद्धि पर डॉक्टरों ने कहा कि मामले बढ़ सकते हैं, मगर यह तब तक चिंता का विषय नहीं होना चाहिए, जब तक अस्पताल में भर्जी होने वाले मरीजों की संख्या नहीं बढ़ती है. एम्स के डॉ. नीरज निश्चल ने कहा कि वायरस अभी भी वातावरण में मौजूद है.

इसलिए हम इसके कारण होने वाले संक्रमणों को देख पा रहे हैं. अगर कोविड के कारण अस्पताल में भर्ती होने की दर कम रहती है, तो यह बिल्कुल भी चिंता का कारण नहीं होना चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि पिछले एक सप्ताह में एम्स अस्पताल में कोरोना के मरीजों के एडमिट होने की संख्या में कोई बड़ी वृद्धि नहीं हुई है.

वर्तमान में कुल 9745 बेडों में से केवल 47 (0.48%) बेडों पर कोरोना मरीज हैं. इनमें कलावती सरन चिल्ड्रेन हॉस्पिटल में 11, राम मनोहर लोहिया अस्पताल में आठ, लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज में छह और लोक नायक अस्पताल में चार मरीज शामिल हैं. कलावती सरन चिल्ड्रन हॉस्पिटल के एक डॉक्टर ने कहा कि कुछ रोगियों को अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के लिए भर्ती कराया गया था, लेकिन इलाज के दौरान उनमें कोरोना पाया गया. दिल्ली में इस समय कोरोना के 601 सक्रिय मामले हैं. अधिकारियों ने कहा कि इनमें से 447 मरीज होम आइसोलेशन में हैं.

Corona’s speed started to scare in Delhi, positivity rate increased 3 times

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *