Type to search

Covid-19 Precaution Dose: कोविड-19 की प्रिकॉशन डोज़ क्या है? जानें महत्वपूर्ण बातें

जरुर पढ़ें देश

Covid-19 Precaution Dose: कोविड-19 की प्रिकॉशन डोज़ क्या है? जानें महत्वपूर्ण बातें

Share

10 जनवरी से स्वास्थ्य और फ्रंटलाइन वर्कर्स, 60 वर्ष से अधिक उम्र के अन्य गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों को कोविड-19 की प्रिकॉशन डोज़ दी जाएगी।

Sars-Cov-2 के उभरते हुए संस्करण के खिलाफ प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए बूस्टर डोज़ का प्रस्ताव दुनिया में पहले ही पेश किया जा चुका है और कई देशों में इसका उपयोग किया जा रहा है। हालांकि भारत में इसे बूस्टर डोज नहीं कहा जा रहा है। 25 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस डोज़ को प्रिकॉशन डोज़ बताते हुए एक बड़ा ऐलान किया था.

क्या हैं प्रिकॉशन डोज़?

1) भारत में प्रिकॉशन डोज़ किसे दी जाएगी?
भारत में प्रिकॉशन डोज़ फ्रंटलाइन वर्कर्स, हेल्थकेयर वर्कर्स और गंभीर बीमारी और 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को दी जाएगी। यह डोज़ पहले दो डोज़ की तरह ही दी जाएगी।

2) कितने लोगों को प्रिकॉशन डोज़ मिलेगी?
कोरोना से सीधे तौर पर लड़ने वाले फ्रंटलाइन वर्कर्स और हेल्थकेयर वर्कर्स को प्रिकॉशन डोज़ मिलेगी जिनकी संख्या लगभग 3 करोड़ जितनी हैं।

3) 60 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्ग जिन्हें गंभीर बीमारी है, उन्हें डॉक्टर की सलाह के अनुसार टीके की तीसरी डोज़ दी जाएगी। हालांकि उनके लिए यह एक वैकल्पिक सुविधा है।

3) अगर कोई बीमारी नहीं है तो क्या होगा?
60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को भी यदि कोई गंभीर बीमारी नहीं है तो उन्हें प्रिकॉशन डोज़ नहीं मिलेगी। राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के सीईओ डॉ. आरएस शर्मा ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि प्रिकॉशन डोज़ के लिए “कॉमरेडिटी सर्टिफिकेट” की आवश्यकता होगी। आपको तीसरी डोज़ तभी मिलेगी जब आपको मधुमेह, कैंसर, सांस लेने में तकलीफ और हृदय रोग जैसी कोई गंभीर बीमारी हो।

4) तीसरी खुराक कितने समय बाद लेनी है
सरकार द्वारा अभी तक दिशानिर्देशों की घोषणा नहीं की गई है, लेकिन सूत्रों ने कहा कि तीसरे डोज़ के लिए 9 से 12 महीने के अंतराल की घोषणा की जा सकती है। यानी 10 जनवरी से तीसरी खुराक उन्हें दी जाएगी जिन्होंने साल के जनवरी से मार्च के बीच दूसरी खुराक ली है.

5) कौनसी वैक्सीन दी जाएगी?
जानकारों के मुताबिक तीसरी डोज़ में अलग कंपनी की वैक्सीन दिए जाने की संभावना है। उदाहरण के लिए, जिन लोगों ने कोवेक्सिन की पहली दो खुराक ली है, उन्हें कोविशील्ड की तीसरी डोज़ मिलेगी और जिन लोगों ने पहले दो डोज़ कोविशील्ड की ली हैं, उन्हें कोवेक्सिन की तीसरी डोज़ मिलेगी।

6) क्या बूस्टर डोज़ का सर्टिफिकेट मिलेगा?
हां। जिस तरह पहली दो डोज़ के लिए वैक्सीन का सर्टिफिकेट मिला था, उसी तरह तीसरा बूस्टर डोज सर्टिफिकेट भी मिलेगा, डॉ. आर एस शर्मा ने कहा।

Covid-19 Precaution Dose: What is the Precaution Dose of COVID-19? Learn important things

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *