Type to search

टैचीकार्डिया की वजह से अस्पताल में भर्ती हुई थीं दीपिका पादुकोण, जानिए क्या है ये बीमारी

मनोरंजन लाइफस्टाइल

टैचीकार्डिया की वजह से अस्पताल में भर्ती हुई थीं दीपिका पादुकोण, जानिए क्या है ये बीमारी

Share
Deepika Padukone

अभिनेत्री दीपिका पादुकोण जब अपनी फिल्म प्रोजेक्ट के की शूटिंग में व्यस्त थीं, तो उन्हें हार्ट रेट बढ़ने की समस्या हुई, जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया और चेकअप के बाद वह सेट पर लौट आईं। दरअसल पिछले कुछ वक्त से वह नॉन-स्टॉप काम कर रही हैं। जिसका असर कहीं ना कहीं उनकी सेहत पर भी नजर आने लगा है। दिल की समस्याएं और अनियमित हार्ट बीट आज के समय में बेहद आम स्वास्थ्य समस्या हो चुकी है। सिद्धार्थ शुक्ला से लेकर लोकप्रिय और प्रसिद्ध गायक कृष्णकुमार कुन्नाथ अर्थात् केके जैसी प्रसिद्ध हस्तियां हार्ट रेट बढ़ने के कारण दुनिया को अलविदा कह गईं।

कई बार हृदय गति में वृद्धि कुछ शारीरिक उत्तेजनाओं का एक रिफ्लेक्स रिस्पॉन्स हो सकता है। आपका तनाव शारीरिक व मनोवैज्ञानिक दोनों हो सकता है। इतना ही नहीं, कभी-कभी व्यायाम , कैफीन या उत्तेजक का अधिक उपयोग, हार्मोनल कारण, एनीमिया और बुखार के कारण भी ऐसा होने की संभावना रहती है। सामान्य रूप से, जब आप सक्रिय नहीं होते हैं तो आपकी हृदय गति 60 से 100 बीट प्रति मिनट होती है। जब आपका दिल एक मिनट में 100 बीट्स से अधिक हो जाता है, तो इसका अर्थ है कि आपका हार्ट रेट बढ़ रहा है, जिसे टैचीकार्डिया कहा जाता है।

बता दें कि कई बार हृदय गति में वृद्धि कुछ शारीरिक उत्तेजनाओं का एक रिफ्लेक्स रिस्पॉन्स हो सकता है। आपका तनाव शारीरिक व मनोवैज्ञानिक दोनों हो सकता है। इतना ही नहीं, कभी-कभी व्यायाम , कैफीन या उत्तेजक का अधिक उपयोग, हार्मोनल कारण, एनीमिया और बुखार के कारण भी ऐसा होने की संभावना रहती है।यदि हृदय गति अनियमित है तो कारण का पता लगाने के लिए कुछ टेस्ट करने की आवश्यकता हो सकती है। इस स्थिति में जिन परीक्षणों की सलाह दी जाती है उनमें ईसीजी, इकोकार्डियोग्राम, होल्टर मॉनिटरिंग, थायराइड प्रोफाइल और नैदानिक स्थिति के आधार पर अन्य बुनियादी जांच शामिल हैं। कारणों को जानने के बाद उपचार किया जाता है।

अगर सांस लेने में तकलीफ हो रही हो या फिर बेहोशी जैसा महसूस हो रहा हो तो ऐसे में तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। हालांकि, यहां यह भी ध्यान रखना चाहिए कि टैचीकार्डिया में, क्योंकि आपका दिल बहुत बार धड़कता है, उसके पास धड़कन के बीच खून भरने के लिए समय नहीं होता है। यह खतरनाक हो सकता है यदि आपका हृदय आपकी सभी कोशिकाओं को आवश्यक रक्त और ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं कर सकता है। ऐसे में रोकथाम के उपायों पर विशेष रूप से ध्यान दिया जाना चाहिए।

टैचीकार्डिया के जोखिम को कैसे कम करें –
टैचीकार्डिया के जोखिम को कम करने के लिए कुछ उपाय अपनाए जा सकते हैं।
• अपने उच्च रक्तचाप और उच्च कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करें।
• दिल को नुकसान पहुंचाने वाली आदतों जैसे को धूम्रपान या तंबाकू उत्पादों से दूरी बना लें।
• अपने वजन पर नजर बनाए रखें। मोटापा या अधिक वजन होने से दिल की समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए, वजन कम करें और खुद को फिट रखें।
• अपने खानपान पर विशेष रूप से ध्यान दें। ध्यान रखें कि आपके हृदय को पोषण की आवश्यकता होती है और इसके लिए संतुलित आहार लेना बेहद जरूरी है।
• अत्यधिक शराब के सेवन से बचें। इससे उच्च रक्तचाप, दिल की विफलता या स्ट्रोक हो सकता है। अत्यधिक शराब पीने से कार्डियोमायोपैथी भी हो सकती है, एक विकार जो हृदय की मांसपेशियों को प्रभावित करता है।
• तनावख् चिंता और अवसाद से जितना हो सके, दूरी बनाकर रखें। अपने तनाव को मैनेज करने के लिए कुछ कदम उठाएं।

Deepika Padukone was hospitalized due to tachycardia, know what is this disease

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *