Type to search

Delhi-NCR : लू से तुरंत राहत नहीं, बारिश के लिए करना होगा और इंतजार

देश

Delhi-NCR : लू से तुरंत राहत नहीं, बारिश के लिए करना होगा और इंतजार

Share
heatstroke

भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार दिल्ली-एनसीआर और उत्तर-पश्चिम भारत के अन्य हिस्सों में भीषण गर्मी से 15 जून तक कोई बड़ी राहत मिलने की संभावना नहीं है, हालांकि सप्ताहांत में अधिकतम तापमान में कुछ डिग्री की कमी आ सकती है। गर्म और शुष्क पश्चिमी हवाओं के हमले के कारण 2 जून से उत्तर पश्चिमी और मध्य भारत में लू चल रही है। आईएमडी के अनुसार, 16 जून से नमी भरी पुरवाई हवाएं चलेंगी, जिससे इस क्षेत्र के लोगों को राहत मिल सकती है।

आईएमडी के वैज्ञानिक आर.के. जेनामणि ने कहा, ‘‘दिल्ली में कुछ स्थानों पर लू चलने की चेतावनी दी गई है, लेकिन तापमान में बढ़ोतरी के आसार नहीं है।’’ उन्होंने बताया कि 11-12 जून को तापमान में गिरावट आएगी, लेकिन 15 जून तक बड़ी राहत की कोई उम्मीद नहीं है। उन्होंने कहा कि सप्ताहांत में बादल छाए रहेंगे, लेकिन बारिश की संभावना कम है। तापमान 40 से 43 डिग्री सेल्सियस के बीच बना रहेगा। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि यूपी, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तरप्रदेश, झारखंड, तेलंगाना और मध्यप्रदेश में गुरुवार को भी लू का सामना करना पड़ेगा जबकि ओडिशा में शुक्रवार तक लू का प्रकोप जारी रहने की संभावना है।

उन्होंने कहा, ‘‘16 जून के बाद से नमी से भरी पुरवाई हवाएं चलने से इस क्षेत्र में गरज के साथ छींटे पड़ सकते हैं, जिससे गर्मी से काफी राहत मिलने की उम्मीद है।’’ जेनामणि ने बताया कि अगले दो दिनों में गोवा और महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं।

दिल्ली के कई हिस्सों में बृहस्पतिवार को लगातार सातवें दिन लू जारी रही और भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा है कि यहां 16 जून तक भीषण गर्मी से बड़ी राहत की कोई संभावना नहीं है। दिल्ली के आधार मौसम केंद्र सफदरजंग वेधशाला ने अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जो सामान्य से चार डिग्री अधिक है। यहां के 11 मौसम केंद्रों में से तीन ने बृहस्पतिवार को लू की स्थिति दर्ज की।

Delhi-NCR: No immediate relief from heatstroke, will have to wait for rain

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *