Type to search

Delhi : खतरे के निशान के करीब पहुंचा यमुना नदी का जलस्तर, अगले 24 घंटे बेहद अहम

देश राज्य

Delhi : खतरे के निशान के करीब पहुंचा यमुना नदी का जलस्तर, अगले 24 घंटे बेहद अहम

Share

लगातार हो रही भारी बारिश के चलते दिल्ली में यमुना नदी का जलस्तर खतरे के निशान के करीब पहुंच गया है। जिससे देखते हुए दिल्ली प्रशासन ने यमुना नदी में जल स्तर बढ़कर 205.22 मीटर पहुंचने पर शुक्रवार को अलर्ट जारी किया है। उत्तर पश्चिम भारत में बारिश होने के कारण यमुना में जल स्तर बढ़कर खतरे के निशान 205.33 मीटर के बेहद करीब पहुंच गया है।

बारिश बीते 24 घंटे से हो रही है जिससे पानी और बढ़ने के आसार हैं। दिल्ली में यमुना 24 घंटे में खतरे के निशान तक पहुंच सकती है। इस दौरान सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण विभाग ने अलग-अलग इलाको में 13 नौकाओं को तैनात किया है और 21 अन्य को तैयार रखा है। हरियाणा द्वारा हथिनीकुंड बैराज से यमुना में और पानी छोड़े जाने पर दिल्ली पुलिस और पूर्वी दिल्ली जिला प्रशासन ने राजधानी में यमुना के मैदानी इलाकों में रह रहे लोगों से जगह को खाली कराना शुरू कर दिया है।

एक अधिकारी ने बताया कि इन लोगों को यमुना पुश्ता इलाके में शहर की सरकार के आश्रय गृहों में ले जाया जा रहा है। वहीं, सुबह साढ़े आठ बजे ओल्ड रेलवे ब्रिज पर जल स्तर 205.22 दर्ज किया गया था। गुरुवार को रात साढ़े आठ बजे यह 203.74 मीटर दर्ज किया गया। अधिकारी ने बताया कि सुबह 6 बजे जल स्तर 205.10 मीटर और 7 बजे 205.17 मीटर था. जल स्तर और बढ़ सकता है। जिला प्रशासन के एक अधिकारी ने कहा कि बाढ़ का अलर्ट तब जारी किया जाता है जब यमुना का जल स्तर 204.50 मीटर के खतरे के निशान को पार करता है।

वहीं इस पर 24 घंटे स्थिति की निगरानी की जा रही है। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि दिल्ली में बारिश के कारण नदी उफान पर है। उत्तर पश्चिम भारत में और भारी बारिश की संभावना के कारण नदी और उफान पर हो सकती है। ऐसे में मौसम विभाग ने शुक्रवार को तीसरे दिन दिल्ली-एनसीआर में मध्यम बारिश के लिए ओरेंज अलर्ट जारी किया है।

बीते 3 दिन से हो रही लगातार भारी बारिश होने से यमुना में पानी बढ़ गया है। इस वजह से हथिनीकुंड बैराज से ज्यादा मात्रा में पानी छोड़ा जा रहा है। लिहाजा, दिल्ली में भी यमुना के जलस्तर में बढ़ोतरी हो रही है। सचाई व बाढ़ नियंत्रण विभाग के मुताबिक पिछले 24 घंटे में हथनी कुंड बैराज से एक लाख 60 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया है, जो इस साल सबसे ज्यादा है।

Share This :
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Join #Khabar WhatsApp Group.