Type to search

कन्हैया कुमार की एंट्री से पहले कांग्रेस में कलह !

देश राजनीति

कन्हैया कुमार की एंट्री से पहले कांग्रेस में कलह !

Share

जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और विवादों में रहे सीपीआई नेता कन्हैया कुमार की एंट्री से पहले ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद मनीष तिवारी ने अपने अंदाज में पार्टी के हालात पर तंज कस दिया है। उन्होंने पार्टी की स्थिति के लिए 1973 की एक किताब पढ़ने की जरूरत बताई है, जिसका टाइटल है ‘कम्युनिस्ट्स इन कांग्रेस’।

यह पुस्तक मोहन कुमारमंगलम और सतिंद्र सिंह ने लिखी थी। राज्यसभा सांसद मनीष तिवारी कांग्रेस के उस जी-23 के नेताओं में शामिल रहे हैं, जिन्होंने पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को पिछले साल पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र की बहाली को लेकर एक लंबा-चौड़ा पत्र लिखा था। जिसके बाद पार्टी आलाकमान ने उसके अधिकतर सदस्यों को या तो मुख्यधारा से किनारे कर दिया या कुछ ने हथियार डालकर पार्टी में अपनी स्थिति किसी तरह से बचाने की कोशिश की। लेकिन, मनीष तिवारी और कपिल सिब्बल जैसे नेता अक्सर नेतृत्व की लाइन से अलग सुर में बोलते रहे हैं।

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने आज ट्विटर पर एक पुरानी किताब के गूगल वर्जन को शेयर करते हुए लिखा है- ‘जैसा कि कुछ कम्युनिस्ट नेताओं के कांग्रेस ज्वाइन करने की अटकलें हैं, ऐसे में शायद 1973 में लिखी गई किताब ‘कम्युनिस्ट्स इन कांग्रेस’ (मोहन)कुमारमंगलम की थीसिस को फिर से पढ़ना होगा। चीजें जितनी बदलती हैं, शायद उतनी ही समान भी रहती हैं। मैंने आज इसे फिर पढ़ा है।’ मनीष तिवारी के इस ट्वीट को सीपीआई नेता कन्हैया कुमार के कांग्रेस में आने से ही जोड़कर देखा जा रहा है, जिनकी एंट्री से पहले ही कांग्रेस मुख्यालय के बाहर उनकी पार्टी नेता राहुल गांधी के साथ वाले पोस्टर छा चुके थे।

कन्हैया कुमार के कांग्रेस में शामिल होने की बात कुछ दिन पहले गुजरात के एमएलए और दलित कार्यकर्ता जिग्नेश मेवानी ने कही थी, जिन्होंने खुद भी आज के दिन उनके साथ ही कांग्रेस में शामिल होने का ऐलान किया था। जाहिर है कि दिल्ली में पार्टी मुख्यालय के बाहर जिस तरह की तैयारियां आज सुबह से की गई थीं, उससे इनकी आने की तैयारियां लगता है कि पहले से की जा चुकी थी। हालांकि, कन्हैया कुमार ने सीपीआई छोड़कर कांग्रेस में शामिल होने की बात कभी खुद से नहीं कही, लेकिन इसका खंडन करने के लिए जब वे सीपीआई मुख्यालय में बुलाई गई प्रेस कांफ्रेंस में नहीं पहुंचे तभी साफ हो गया कि वह अपना फैसला ले चुके हैं।

Discord in Congress before Kanhaiya Kumar’s entry!

Share This :
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *