Type to search

क्या आप जानते है सुबह-सुबह आपका Good Morning मैसेज दुनिया को पहुंचता हैं नुकसान!

सोशल अड्डा

क्या आप जानते है सुबह-सुबह आपका Good Morning मैसेज दुनिया को पहुंचता हैं नुकसान!

Share

भारत के लोग हर सुबह WhatsApp पर Good Morning का Message भेजते है और उनकी यह आदत पूरी दुनिया में इंटरनेट को स्लो कर देती है. दुनियाभर के IT एक्सपर्ट्स ये पता लगाने की कोशिश कर रहे थे कि एक खास समय में दुनिया में इंटरनेट स्लो क्यों हो जाता है. इस दौरान उन्हें पता चला कि इसके पीछे भारत के करोड़ों लोगों की सुबह Good Morning और सुप्रभात कहने की आदत है.

अगर आप नोटिस करे तो आज सुबह उठते ही जब आपने भी अपना मोबाइल फोन उठाया होगा और WhatsApp चेक किया होगा तो आपको भी किसी न किसी फैमिली या दोस्तों के ग्रुप में Good Morning के मैसेज आए होंगे. या किसी प्रेरणादायी सुविचार के साथ Good Morning का संदेश लिखा होगा. भारत में हर दिन करोड़ों लोग अलग-अलग तरीकों से WhatsApp पर एक-दूसरे को ऐसे ही Good Morning मैसेज भेजते हैं.

इंटरनेट जाम में आपका हाथ!
लेकिन क्या आपको पता है कि Good Morning के ये अनगिनत Messages इंटरनेट को जाम कर देते हैं. आपने गौर किया होगा कि आप अपने मोबाइल फोन पर जब इंटरनेट चलाते हैं तो कई बार इंटरनेट की स्पीड स्लो हो जाती है और जो आप सर्च कर रहे हैं उसे लोड होने में बहुत समय लगता है. ये पूरी दुनिया के लोगों के साथ होता है. दुनिया भर के IT एक्सपर्ट्स इस पहेली को सुलझाते-सुलझाते थक गए थे. लेकिन आखिरकार पता चला कि इसके लिए एक दूसरे को Good Morning मैसेज भेजने वाले करोड़ों भारतीय जिम्मेदार हैं.

भारत में करीब 40 करोड़ लोग Whatsapp का इस्तेमाल करते हैं और जब ये करोड़ों लोग सुबह-सुबह एक दूसरे को Good Morning मैसेज भेजते हैं तो इन मैसेज की बाढ़ आ जाती है और पूरी दुनिया में इंटरनेट की बैंडविथ कम पड़ने लगती है यानी दुनिया का इंटरनेट भारतीयों के दिए हुए इस बोझ को नहीं झेल पाता.

भारत में पिछले 5 वर्षों में Good Morning मैसेज की तस्वीरों को इंटरनेट पर ढूंढने वालों की संख्या 10 गुना बढ़ गई है और इन्हें डाउनलोड करने वालों की संख्या 9 गुना ज्यादा हो गई है. ये सारी तस्वीरें आपके मोबाइल फोन में डाउनलोड होती हैं और आपके मोबाइल फोन की स्टोरेज भी फुल हो जाती है.

Do you know that your good morning message reaches the world early in the morning?

Share This :
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *