Type to search

एलन मस्क की कंपनी SpaceX ने पहली बार आम लोगों को भेजा अंतरिक्ष में, रचा इतिहास

दुनिया देश

एलन मस्क की कंपनी SpaceX ने पहली बार आम लोगों को भेजा अंतरिक्ष में, रचा इतिहास

Share

मशहूर बिजनेसमैन एलन मस्क की कंपनी स्पेस एक्स (SpaceX) ने इतिहास रच दिया है। इस कंपनी ने अंतरिक्ष पर्यटन के क्षेत्र में एक नई उपलब्धि हासिल करते हुए 4 आम नागिरकों को अंतरिक्ष में भेजा है। स्पेस एक्स ने भारतीय समय के मुताबिक सुबह 5 बजकर 32 मिनट पर अपने रॉकेट को नासा के फ्लोरिडा स्थित कैनेडी स्पेस रिसर्च सेंटर से लॉन्च किया।

चार यात्रियों में दो महिला और दो पुरुष
दुनिया के अंतरिक्ष अभियान के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ जब एक रॉकेट किसी पेशेवर अंतरिक्ष यात्री को नहीं बल्कि शौकिया चालक दल के साथ अंतरिक्ष में रवाना हुआ है। स्पेस एक्स के साथ जो चार लोग अंतरिक्ष की सैर पर गए हैं उनमें दो महिला और दो पुरुष हैं। इसे एलन मस्क के अंतरिक्ष पर्यटन को लेकर शुरू किए गए अभियान की अहम उपलब्धि माना जा रहा है।

अंतरिक्ष की सैर पर निकले ये चार यात्री,जानिए कौन हैं चारों –

  1. जेयर्ड इसाकमैन:
    स्पेस एक्स के इस मिशन की पूरी कमांड जेयर्ड इसाकमैन के पास है। वे 38 साल के हैं और इसाकमैन शिफ्ट4पेमेंट नामक पेमेंट कंपनी के फाउंडर और CEO हैं। केवल 16 वर्ष की उम्र में उन्होंने इस कंपनी की शुरुआत की थी। वे एक प्रोफेशनल पायलट हैं
  2. शॉन प्रोक्टर:
    रिजोना के एक कॉलेज में जियोलॉजी की प्रोफेसर हैं। इनकी उम्र 51 प्रोक्टर के पिता अपोलो मिशन के दौरान नासा के साथ काम कर चुके हैं। प्रोक्टर खुद कई बार नासा के स्पेस प्रोग्राम में हिस्सा ले चुकी हैं।
  3. क्रिस सेम्ब्रोस्की:
    क्रिस सेम्ब्रोस्की अमेरिकी एयरफोर्स के पायलट रह चुके हैं। क्रिस की उम्र 42 साल है और वे इराक युद्ध में भी शामिल थे। फिलहाल क्रिस एयरोस्पेस और डिफेंस निर्माता कंपनी लॉकहीड मार्टिन के साथ काम कर रहे हैं।
  4. हेयली आर्केनो:
    हेयली आर्केनो कैंसर सर्वाइवर हैं। उन्हें हड्डियों का कैंसर था। 29 साल की हेयली अंतरिक्ष में जानेवाली सबसे कम उम्र की अमेरिकी नागरिक हैं। हेयली को इस मिशन में मेडिकल ऑफिसर की जिम्मेदारी मिली है।

575 किमी की ऊंचाई पर तीन दिनों तक रहेंगे यात्री
स्पेस एक्स के इस रॉकेट का कंट्रोल एस्पेस एक्स के पास है। तीन दिन के इस अभियान को इंस्पिरेशन 4 नाम दिया है। इस अभियान के दौरान चारों अंतरिक्ष पर्यटक धरती से 575 किमी की ऊंचाई पर तीन दिनों तक रहेंगे। 2009 के बाद पहली बार इंसान धरती से इतनी ऊंचाई पर होगा। इससे पहले मई 2009 में वैज्ञानिक हबल टेलिस्कोप की मरम्मत के लिए धरती से 541 किलोमीटर की ऊंचाई पर गए थे। आपको बता दें कि इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन की ऊंचाई 408 किमी है और यहां पर अंतरिक्ष यात्रियों का आना-जाना लगा रहता है।

Elon Musk’s company SpaceX sent common people into space for the first time, created history

Share This :
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *