Type to search

देशभर में खुलेंगी RSS की पांच नई यूनिवर्सिटीज

देश

देशभर में खुलेंगी RSS की पांच नई यूनिवर्सिटीज

Share
RSS

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से जुड़ा विद्या भारती देशभर में पांच नई यूनिवर्सिटीज तैयार करने वाला है. विद्या भारती के राष्ट्रीय आयोजन सचिव यतींद्र शर्मा ने उत्तराखंड के हरिद्वार में आयोजित एक समारोह में इस बात की पुष्टि की. शर्मा के हवाले से एक प्रमुख अखबार ने बताया कि नई यूनिवर्सिटीज का मकसद शिक्षा में सकारात्मक बदलाव लाना है.

RSS लंबे समय से देश में स्टूडेंट्स को स्कूली शिक्षा मुहैया कराने का काम कर रहा है. वहीं, अब इसका मकसद अपने संगठन के उच्च शिक्षा संस्थान के माध्यम से उच्च शिक्षा पर ध्यान केंद्रित करने का है. RSS पहले ही कर्नाटक के बेंगलुरू में चाणक्य यूनिवर्सिटी खोल चुका है और असम के गुवाहाटी में एक और RSS University पर काम चल रहा है. बेंगलुरू में यूनिवर्सिटी के पहले बैच के लिए कुल 200 स्टूडेंट्स ने एनरॉल किया है. इस यूनिवर्सिटी में विद्या भारती स्कूलों के लगभग 50 स्टूडेंट्स को फ्री में एजुकेशन मुहैया कराया जाता है. यतींद्र शर्मा ने इस बात पर जोर दिया कि आरएसएस द्वारा संचालित एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन सभी वर्गों, जातियों और पंथों के स्टूडेंट्स के लिए खुले हैं. उन्होंने कहा कि उनके 29,000 स्कूलों में अच्छी संख्या में मुस्लिम और ईसाई समुदायों के स्टूडेंट्स हैं.

आरएसएस से जुड़े विद्या भारती ने हाल ही में केंद्र द्वारा शुरू की गई नई नेशनल एजुकेशन पॉलिसी (NEP) 2020 के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए एक अभियान का ऐलान किया. इस अभियान का मकसद ‘भारत केंद्रित शिक्षा’ के पहलुओं को उजागर करना है. छठी क्लास से प्रस्तावित स्किल एजुकेशन के साथ ‘श्रम की गरिमा’ को प्रेरित करते हुए और NEP पर आधारित प्रतियोगिताओं में ‘मातृभाषा’ को प्रोत्साहित करना भी इसका काम है. अभियान की शुरुआत 11 सितंबर को हुई थी.

संगठन के महासचिव श्रीराम अरावकर ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि देशभर में स्कूलों के अपने बड़े नेटवर्क के साथ, उन्होंने एनईपी के कार्यान्वयन में सरकार की मदद करने का लक्ष्य रखा है. एनईपी को भारत केंद्रित नीति बताते हुए, अरावकर ने कहा कि इसे देश के सुदूर हिस्सों तक पहुंचना चाहिए. अभियान में एनईपी के तहत सुधारों के दायरे, पैमाने और प्रभाव पर चर्चा शामिल है. इसके अतिरिक्त, MyNEP प्रतियोगिता और अन्य एनईपी-थीम वाली लोकप्रिय प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जा रही हैं.

Five new RSS universities will open across the country

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *