Type to search

महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश में बाढ़-बारिश से आफत, अब तक 218 लोगों की मौत

जरुर पढ़ें देश

महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश में बाढ़-बारिश से आफत, अब तक 218 लोगों की मौत

Share

महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश समेत कई दूसरे राज्यों में भारी बारिश की वजह से जनजीवन अस्त-व्यस्त है. इन राज्यों में बाढ़ और बारिश की वजह से अब तक 218 लोगों की मौत हो चुकी है. महाराष्ट्र में अकेले बाढ़ की वजह से अब तक 84 लोगों की मौत हो गई. महाराष्ट्र के 6 जिलों में मौसम विभाग ने रेड अलर्ड जारी किया है. नागपुर से लेकर नासिक तक हाहाकार मचा है.

महाराष्ट्र में आसमानी आफत कहर बनकर टूटी है. बारिश के आगे हर कोई बेबस और लाचार नजर आ रहा है. नासिक और नागपुर में सबसे ज्यादा बर्बादी और तबाही देखने को मिल रही है. नदियां उफान पर हैं. नदी किनारे बने घर और मंदिर सबकुछ डूब गए हैं. महाराष्ट्र में बाढ़ और बारिश की वजह से अबतक 84 लोगों की जान जा चुकी है. गढचिरौली और अकोला में बाढ़ कहर बरपाने लगी हैं. कई इलाके जलमग्न हो चुके हैं. हर तरफ पानी ही पानी नजर आ रहा है. यहां एनडीआएएफ की टीम मौके पर पहुंची और रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू हुआ. अकोला में नदियों के उफान की वजह से तटीय इलाकों में बाढ़ के हालात बन गए हैं. महाराष्ट्र के 6 जिलों में रेड अलर्ट है. मौसम विभाग ने पालघर, नासिक, रायगड, पुणे, सतारा और कोल्हापुर में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की नजर बनी हुई है.

छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में भी भारी बारिश से बाढ़ के हालात बन गए हैं. छत्तीसगढ़ के 2 जिलों में रेड अलर्ट है. छत्तीसगढ़ में आसमानी आफत के आगे मासूम भी बेबस और लाचार हो गए हैं. सुकमा में भारी बारिश से गांव में पानी भर गया है. रास्ते कट गए हैं. ऐसे में गांव वाले अपने बच्चे को उफनते नाले को पार करने के लिए एक बर्तन में रख कर धीरे धीरे सैलाब को पार करते दिखे. वहीं बस्तर में भारी बारिश ने स्कूली बच्चों का रास्ता रोक दिया है.

मध्य प्रदेश के 14 जिलों में ऑरेंज अलर्ट है और भारी बारिश से हालात बिगड़ने लगे हैं. मध्य प्रदेश में बाढ़ से अब तक 66 लोगों की मौत हो चुकी है. एमपी के सागर में भारी बारिश की वजह से रेलवे लाइन के चारों तरफ पानी भरा है. रेलवे क्रॉसिंग को पार करने के लिए बनी पुलिया पानी में डूब चुकी है.
ऐसे में लोगों के सामने आने जाने का कोई रास्ता नहीं बचा तो लोग जान जोखिम में डालकर रेलवे ट्रैक से होकर आने जाने लगे हैं. कई जगह आसमानी बिजली गिरी है जिसमें तीन स्कूली बच्चों की भी मौत हो गई है.

गुजरात के कई इलाकों में भारी बारिश कहर बरपा रही है. इस प्रदेश में भी बारिश की शुरुआत से लेकर कल तक 60 से अधिक लोगों की जान चली गई है. NDRF की 13 टीमें राज्य के अलग-अलग जगहों में तैनात है. यहां नर्मदा नदी में बाढ़ की वजह से प्रशासन सतर्क है. भरूच और नर्मदा जिले के कई इलाकों में अलर्ट जारी किया गया है.

उत्तराखंड में भारी बारिश ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. कोटद्वार में एक मकान सैलाब में बह गया. कई जिलों में कमोबेस यही हाल देखने को मिल रहा है. उत्तराखंड के कोटद्वार में भारी बारिश से नदी नाले सब उफान पर हैं. मंगलवार को कोटद्वार के दो घंटे मूसलाधार बारिश हुई. जिसके बाद बाढ़ के हालात बन गए. कुछ परिवारों के घर बाढ़ के पानी में पूरी तरह से डूब गए. रामनगर में बरसाती नाले में उफान आने से एक कार बह गई. बताया जा रहा है कि 4 टीचर रामनगर से अल्मोड़ा जा रहे थे, तभी अचानक बरसाती नाले में सैलाब आ गया और कार पानी में डूब गई. स्थानीय लोगों ने वक्त पर शिक्षक को बचा लिया.

दक्षिण भारत में भी इन दिनों सैलाब कहर बनकर टूटा है. कर्नाटक के 6 जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. बेलगावी में नदियां उफान पर हैं. भारी बारिश से कर्नाटक का बेलगावी जलमग्न हो गया है. हर तरफ पानी ही पानी नजर आ रहा है. यहां तेज बारिश की वजह से बेलगावी की घटप्रभा नदी पूरे उफान पर है. भारी बारिश की वजह विजय पुरा इलाके में एक मकान की छत गिर गई. मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने बाढ़ प्रभावित इलाकों की समीक्षा की और लोगों तक मदद और राहत पहुंचाने के लिए अधिकारियों को दिशा निर्देश जारी किए हैं.

Flood-rain in Maharashtra, Gujarat and Madhya Pradesh, 218 people died so far

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *