Type to search

भूल जाईये अब महंगे LPG सिलेंडर! घर ले आइए ये सरकारी स्टोव, फ्री में बनेगा खाना

देश

भूल जाईये अब महंगे LPG सिलेंडर! घर ले आइए ये सरकारी स्टोव, फ्री में बनेगा खाना

stove
Share on:

हर रोज बढ़ती महंगाई ने लोगों के घरेलू बजट को बिगाड़ रखा है. लेकिन एक तरीका अपनाकर आप अपने खर्च में कटौती कर सकते हैं. इसके लिए आपको घरेलू रसोई गैस की जगह सोलर स्टोव को अपने घर लाना होगा. सरकारी तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन ने एक सोलर स्टोव डेवलेप किया है. इसे अपने घर लाकर आप महंगी रसोई गैस से निजात पा सकते हैं.

इंडियन ऑयल ने सोलर स्टोव का नाम सूर्य नूतन रखा है. इस सोलर स्टोव को खरीदने के लिए आपको एक बार पैसा खर्च करना होगा, लेकिन आप हर महीने की महंगी रसोई गैस से छुटकारा पा जाएंगे. इससे आप हर महीने अपने खर्च में कटौती भी कर पाएंगे. सूर्य नूतन को इंडियन ऑयल के अनुसंधान एवं विकास केंद्र, फरीदाबाद ने डिजाइन व डेवलप किया है. इंडियन ऑयल ने इसे पेटेंट भी कराया है. सूर्य नूतन सोलर स्टोव हाइब्रिड मोड पर भी काम करता है. इसका मतलब ये है कि इस चूल्हे में सौर ऊर्जा के अलावा बिजली के अन्य स्रोतों का भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

सूर्य नूतन सोलर स्टोव दो यूनिट के साथ आता है. इसके एक यूनिट को आप किचन में आसानी से रख सकते हैं और दूसरे को बाहर धूप में रखना होगा. इससे सोलर एनर्जी को स्टोव तक पहुंचेगी और आप चार्ज करते समय भी खाना पका सकते हैं. सूर्या नूतन एक रिचार्जेबल और इनडोर कुकिंग सिस्टम है, जो सौर ऊर्जा से चलता है. इसके अलावा चार्ज हो जाने के बाद भी इसे इस्तेमाल किया जा सकता है.

सूर्य नूतन सोलर स्टोव अलग-अलग मॉडलों में उपलब्ध है. इसके प्रीमियम मॉडल पर चार लोगों के परिवार के लिए पूरा भोजन (नाश्ता + दोपहर का भोजन + रात का खाना) बनाया जा सकता है. सूर्य नूतन का इन्सुलेशन डिजाइन विकिरण और धूप की गर्मी के नुकसान को कम करता है. सूर्य नूतन सोलर स्टोव को आप मार्केट से खरीद सकते है. इसके बेस मॉडल को खरीदने के लिए आपको 12 हजार रुपये खर्च करने होंगे. वहीं, अगर आप इसका टॉप मॉडल खरीदना चाहते हैं, तो इसके लिए 23,000 रुपये खर्च करने होंगे. हालांकि, इंडियन ऑयल का कहना है कि आने वाले समय इसकी कीमतों में काफी कमी आने की उम्मीद है.

Forget expensive LPG cylinders now! Bring home this government stove, food will be cooked for free

Asit Mandal

Share on:
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *