Type to search

G-20 समिट : दुनिया के 10 बड़े नेताओं से मिलेंगे PM मोदी, 45 घंटे में 20 प्रोग्राम

दुनिया देश

G-20 समिट : दुनिया के 10 बड़े नेताओं से मिलेंगे PM मोदी, 45 घंटे में 20 प्रोग्राम

Share
pm modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी-20 शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए आज यानी 15 नवंबर को इंडोनेशिया के बाली शहर पहुंचेंगे. पीएम तीन प्रमुख सत्र- खाद्य और ऊर्जा सुरक्षा, स्वास्थ्य और डिजिटल परिवर्तन में हिस्सा लेंगे. वे वहां तीन दिन तक रहेंगे. ये समिट भारत के लिए खास मानी जा रही है. शिखर सम्मेलन में भारत, चीन और अमेरिका समेत अन्य देशों के राष्ट्र प्रमुख शामिल होंगे. इस दौरान रूस-यूक्रेन संघर्ष और इसके प्रभावों समेत वैश्विक चुनौतियों पर व्यापक विचार-विमर्श होने की उम्मीद है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंडोनेशिया के बाली में करीब 45 घंटे तक रुकेंगे. वे वहां करीब 20 कार्यक्रमों में शामिल होंगे. इसमें जी-20 शिखर सम्मेलन भी शामिल है. सूत्रों ने बताया कि पीएम मोदी सोमवार को इंडोनेशियाई शहर के लिए रवाना होंगे. वहां लगभग 10 वैश्विक नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठकें करेंगे. इंडोनेशिया के डायस्पोरा में भारतीय प्रवासियों से मुलाकात करेंगे और बातचीत भी करेंगे. यहां मोदी के लिए स्वागत समारोह रखा गया है. एक आधिकारिक सूत्र ने बताया कि प्रधानमंत्री का बाली का ‘व्यस्त और लाभकारी’ दौरा होगा.

इससे पहले विदेश सचिव विनय क्वात्रा ने रविवार को पीएम के दौरे के संबंध में जानकारी दी. उन्होंने बताया कि मोदी जी-20 शिखर सम्मेलन में तीन प्रमुख सत्रों- खाद्य और ऊर्जा सुरक्षा, डिजिटल परिवर्तन और स्वास्थ्य में भाग लेंगे. 15 और 16 नवंबर को शिखर सम्मेलन आयोजित होगा. वार्षिक सभा के समापन समारोह में इंडोनेशिया जी-20 प्रेसीडेंसी को भारत को सौंपेगा. शिखर सम्मेलन में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, ब्रिटिश प्रधानमंत्री ऋषि सुनक और फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन भी शामिल होंगे.

क्वात्रा ने बताया कि मोदी जी-20 शिखर सम्मेलन में वैश्विक अर्थव्यवस्था समेत प्रमुख मुद्दों पर व्यापक विचार-विमर्श करेंगे. इसमें ऊर्जा, पर्यावरण, कृषि, स्वास्थ्य और डिजिटल परिवर्तन से संबंधित मुद्दे प्रस्तावित हैं. मोदी इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो के न्यौते पर शिखर सम्मेलन में हिस्सा ले रहे हैं. वैश्विक चुनौतियों को लेकर चर्चा होगी. महामारी के बाद आर्थिक सुधार, वैश्विक दक्षिण के देशों में ऋण कमजोरियां, यूरोप में चल रहे संघर्ष और इसके प्रभाव, दुनिया के सभी देशों पर खाद्य सुरक्षा चुनौतियों, ऊर्जा संकट और मुद्रास्फीति जैसे प्रभावों पर बातचीत होगी. इन चुनौतियों से निपटने में मदद के लिए बहुपक्षीय सहयोग के महत्व पर बात करेंगे.

विदेश सचिव ने कहा कि शिखर सम्मेलन भारत के लिए इसलिए विशेष है क्योंकि ये 1 दिसंबर से एक साल के लिए भारत जी- 20 ग्रुप की अध्यक्षता करेगा. बाली में भारत को इसकी अध्यक्षता सौंपी जाएगी. प्रधानमंत्री समापन सत्र में इंडोनेशिया के राष्ट्रपति से जी-20 की अध्यक्षता प्राप्त करेंगे. भारत सितंबर 2023 में अगले जी-20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा. इसके अलावा, मोदी अन्य देशों के नेताओं को भारत के जी-20 शिखर सम्मेलन में आमंत्रित भी करेंगे.

G-20 Summit: PM Modi will meet 10 big leaders of the world, 20 programs in 45 hours

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *