Type to search

Ganesh Chaturthi : इस साल गणेश चतुर्थी पर रवि योग का संयोग, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

जरुर पढ़ें देश

Ganesh Chaturthi : इस साल गणेश चतुर्थी पर रवि योग का संयोग, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Share

महाराष्ट्र समेत देशभर में आने वाली 31 अगस्त को गणेश चतुर्थी पर्व धूमधाम और हर्षोल्लास से मनाया जाएगा. हिंदू कैंलेडर के अनुसार, ये पर्व भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है. इस साल बुधवार के दिन भगवान गणेश की स्थापना की जाएगी. गणेश चतुर्थी के दिन एक खास योग भी बन रहा है.

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार –
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, 31 अगस्त को गणेश चतुर्थी मनाई जाएगी. इस खास मौके पर रवि योग का संयोग बन रहा है. मान्यता है कि इस योग में गणेश चतुर्थी का महत्व अधिक रहता है. रवि योग में भगवान गणपति की पूजा करने मात्र से भक्तों का हर कष्ट दूर हो जाता है. इसके साथ ही उन्हें मनवांछित फल की प्राप्ति भी होती है. साथ ही अगर आप अपने काम में प्रमोशन चाहते हैं तो गणेश चतुर्थी पर पीले रंग की गणेश प्रतिमा घर में स्थापित कर उनकी पूजा करें.

मंत्र –
फिर हल्दी की 5 गांठ श्री गणाधिपतये नमः मंत्र बोलते हुए चढ़ाएं. 108 दूर्वा पर गीली हल्दी लगा श्री गजवकत्रम नमो नमः का जप कर चढ़ाएं. ये उपाय लगातार 10 दिन तक करें.इससे आपके काम में प्रमोशन होने की संभावनाएं बढ़ने के साथ-साथ कार्यस्थल आ रही परेशानियां भी खत्म होने लगेगी.

इस साल गणेश चतुर्थी पर रवि योग का संयोग –
रवि योग 31 अगस्त को सुबह 6.06 बजे से एक सितंबर को दोपहर 12.12 बजे तक रहेगा.

शुभ मुहूर्त –
शास्त्र अनुसार, चतुर्थी तिथि का आरंभ 30 अगस्त को ही हो जाएगा. मंगलवार दोपहर 3.34 बजे से चतुर्थी तिथि शुरू हो जाएगी. अगले दिन 31 अगस्त को दोपहर 3.23 बजे तक ही चतुर्थी रहेगी. उदया तिथि होने से बुधवार को गणपति स्थापना की जाएगी. मंदिर, पांडाल और घर-घर में गणेश स्थापना के साथ ही गणपति बप्पा की विशेष पूजा-अर्चना का दौर शुरू हो जाएगा. अनंत चतुर्दशी तक गणेश उत्सव मनाया जाएगा.

Ganesh Chaturthi: Coincidence of Ravi Yoga on Ganesh Chaturthi this year, know the auspicious time and method of worship

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *