Type to search

इस ईद सड़कों पर नहीं पढ़ी जाएगी अलविदा की नमाज

जरुर पढ़ें देश

इस ईद सड़कों पर नहीं पढ़ी जाएगी अलविदा की नमाज

Share

धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर का शोर कम करने और सार्वजनिक स्थलों पर धार्मिक आयोजन पर पाबंदी लगाये जाने के सीएम योगी आदित्यनाथ के आदेश का असर हो रहा है. रमजान माह के आखिरी शुक्रवार को होने वाले जमात उल विदा यानी अलविदा जुमा की नमाज इस बार सड़कों पर नहीं पढ़ी जाएगी. सीएम योगी के निर्देशों के बाद पुलिस प्रशासन की सेंट्रल पीस कमेटी के साथ हुई बैठक के बाद जामा मस्जिद के इमाम मौलाना सैयद मोहम्मद रईस अख्तर हबीबी ने लोगों से अपील जारी की है. उन्होंने कहा है कि इस साल स्थानीय प्रशासन ने सार्वजनिक स्थल पर अलविदा नमाज़ पर रोक लगाई है.

मस्जिद इंतजामिया कमेटी के प्रयासों के बावजूद सड़क पर अलविदा जुमा की नमाज की इजाजत नहीं मिली है. हालांकि जामा मस्जिद के इमाम ने अपील में कहा है कि पिछले कई वर्षों से चौक, जामा मस्जिद, ठठेरी बाजार, राजापट्टी फल मंडी घंटा घर होते हुए सड़कों पर भी अलविदा जुमा की नमाज अदा होती. लेकिन इस बार इजाजत न मिलने से सिर्फ जामा मस्जिद के अंदर ही नमाज अदा की जाएगी. उन्होंने नमाजियों से अपील की है कि नमाज अपने मोहल्ले की मस्जिदों में ही अदा कर लें. उनकी इस अपील का असर भी हो रहा है लोगों ने अपने मोहल्ले की मस्जिदों में नमाज पढ़ना तय किया है.

एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह के मुताबिक अलविदा जुमा की नमाज़ को लेकर शासन के निर्देश पर सभी धर्मो के धर्मगुरुओं से लगातार संपर्क किया जा रहा है. एसपी सिटी के मुताबिक अलविदा जुमा की नमाज़ को लेकर सेंट्रल पीस कमेटी के साथ बैठक की गई थी. इसमें लोगों को मस्जिदों में ही नमाज पढ़ने की अपील की गई है. एसपी सिटी के मुताबिक शहर क्षेत्र में 319 मस्जिदें हैं. जिनमें से 289 मस्जिदों में जुमा की नमाज़ पढ़ी जाती है. एसपी सिटी ने कहा है कि रमजान की अलविदा जुमा की नमाज के लिए तीन कंपनी पीएसी, आरएएफ और अतिरिक्त पुलिस बल दिया गया है. शहरी क्षेत्र के सभी मस्जिदों में इन पुलिस बल को तैनात किया जाएगा. लोगों से अपील की गई है कि सार्वजनिक स्थलों को अवरुद्ध न करें. शांतिपूर्ण ढंग से अलविदा जुमा की नमाज अदा की जाए. इसको लेकर पुलिस प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद है और चाक-चौबंद व्यवस्था की जा रही है.

एसपी सिटी ने बताया है कि शहरी क्षेत्र में 37 धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर उतरवाए गए हैं, जिनमें 29 मंदिर और 8 मस्जिदों से लाउडस्पीकर उतरवाए गए हैं. इसके साथ ही 273 धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर का वॉल्यूम कम किया गया है. एसपी सिटी के मुताबिक रमजान माह के आखिरी शुक्रवार को अलविदा जुमा की नमाज़ शांतिपूर्ण और सकुशल संपन्न हो इसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं.

Goodbye prayers will not be read on the streets this Eid

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *