Type to search

बंगाल, झारखंड सहित कई राज्यों में दुर्गा पूजा के लिए गाइडलाइंस जारी

जरुर पढ़ें देश

बंगाल, झारखंड सहित कई राज्यों में दुर्गा पूजा के लिए गाइडलाइंस जारी

Share

भले ही कोरोना के केस देश में कम हुए हैं लेकिन इसका खतरा टला नहीं है और इसलिए त्योहारी सीजन में सबको काफी सतर्क रहने की जरूरत है और इसी वजह से कई राज्यों ने दुर्गापूजा-नवरात्रि और दशहरे को लेकर गाइडलाइंस जारी की है, जिनका पालन करना हर किसी को जरूरी है।

पश्चिम बंगाल –
पंडालों में बड़ी मूर्तियां नहीं लगेंगी।
पंडालों के नजदीक कहीं भी सांस्कृतिक कार्यक्रमों की अनुमति नहीं होगी।
सभी को सोशल डिस्टेंसिग का पालन करना अनिवार्य है।
सभी को मास्क लगाना जरूरी है किसी को भी पूजा के दौरान पुजारी के पास जाने कीअनुमति नहीं।
प्रतिमा विसर्जन का कार्यक्रम नहीं होगा।
पूजा पंडालों के पास मेला नहीं लगाया जाएगा।

झारखंड –
पंडालों में 5 फीट से ज्यादा की मूर्ति नहीं।
पंडाल में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक।
भोग वितरण नहीं किया जाएगा।
सांस्कृतिक कार्यक्रम- गरबा, डांडिया पर रोक।

यूपी –
खुले स्थान पर कार्यक्रम में पाबंदी नहीं है लेकिन सभी प्रोटोकॉल का पालन करना जरूरी है।
मूर्तियों का साइज जितना छोटा हो सके, उतना छोटा रखने के लिए कहा गया हैष पंडाल में भीड़ जुटाने में पाबंदी है।
रावण दहन के वक्त मैदानों में भीड़ नहीं होगी।
सभी को सोशल डिस्टेंसिग का पालन करना अनिवार्य है। सभी को मास्क लगाना जरूरी है।

महाराष्ट्र् –
दुर्गापूजा में मूर्ति की लंबाई 4 फीट से अधिक नहीं होनी चाहिए।
वहीं घरों में 2 फूट से अधिक ऊंची मूर्तियां स्थापित नहीं की जा सकेंगी।
पंडालों में 5 से अधिक लोग नहीं रहेंगे।
रावण दहन के वक्त मैदानों में भीड़ नहीं होगी।
गरबा-डांडिया पर महाराष्ट्र सरकार की रोक ।
पांडाल तैयार करने से पहले नगरपालिका से अनुमति लेनी होगी।
पांडाल में सजने वाली मूर्तियां ईकोफ्रेंडली होनी चाहिए, प्लास्टर ऑफ पेरिस की नहीं बनी होनी चाहिए।

कर्नाटक –
दुर्गापंडााल में मूर्ति की लंबाई 4 फीट से अधिक नहीं होनी चाहिए।
मूर्ति को पंडाल में लगाने से पहले अच्छी तरह पूरा स्थान सेनिटाइज किया जाना जरूरी है।
जोन के संबंधित संयुक्त आयुक्त की अनुमति से प्रति वार्ड में एक मूर्ति स्थापित होगी।
केवल सिंपल प्रार्थना और अनुष्ठानों की अनुमति।
सभी को सोशल डिस्टेंसिग का पालन करना अनिवार्य है।
सभी को मास्क लगाना जरूरी है।
मिठाई, फल और फूल का वितरण प्रतिबंधित है।
एसोसिएशन विशिष्ट समय स्लॉट वाले मेहमानों के लिए निमंत्रण कार्ड जारी करेगा ताकि एक बार में 100 से ज्यादा लोग एक स्थान पर ना हो।
सिंदूर खेला में भी दस से ज्यादा लोग नहीं होंगे।
विसर्जन जुलूस के दौरान कोई डीजे और म्यूजिक नहीं होगा और 1 ज्यादा लोग नहीं होंगे। विसर्जन वहीं होगा, जहां प्रशासन कहेगा।
रावण दहन में मैदानों में भीड़ नहीं होगे।

दिल्ली –
रामलीला के आयोजन स्थल पर भीड़ नहीं होगी।
रामलीला के आयोजन स्थल पर फूड स्टॉल और झूले नहीं लगेंगे।
रामलीला देखने आए लोगों को सोशल डिस्टेंसिग का पालन करना अनिवार्य है।
सभी को मास्क लगाना जरूरी है।
दुर्गा पूजा और रामलीला के लिए लोगों को एकत्र होने संबंधी छूट 15 नवंबर तक प्रभावी रहेगी।
सभागार में पूजा के दौरान 50 से ज्यादा लोग नहीं होंगे।
विसर्जन वहीं होगा, जहां प्रशासन कहेगा।

Guidelines issued for Durga Puja in many states including Bengal, Jharkhand

Share This :
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *