Type to search

अफगानिस्तान को लेकर भारत में बहुत बड़ी मीटिंग, एनएसए अजीत डोभाल और अमेरिकी और रूसी सुरक्षा एजेंसी के प्रमुख मौजूद

दुनिया देश बड़ी खबर

अफगानिस्तान को लेकर भारत में बहुत बड़ी मीटिंग, एनएसए अजीत डोभाल और अमेरिकी और रूसी सुरक्षा एजेंसी के प्रमुख मौजूद

Share

अफगानिस्तान के मुद्दे पर भारत में बहुत बड़ी बैठक चल रही है। जिसमें भाग लेने के लिए अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के प्रमुख और रूस की सुरक्षा एजेंसी के प्रमुख दिल्ली पहुंचे हैं। द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक, दोनों उच्चाधिकारियों ने दिल्ली का दौरा किया है। माना जा रहा है कि दिल्ली में सीआईए प्रमुख ने भारतीय एनएसए अजीत डोवाल के साथ बैठक की है, वहीं अब रूसी सुरक्षा प्रमुख के साथ भारत की बैठक होने वाली है। वहीं, सूत्रों का कहना है कि रूसी सुरक्षा एजेंसी के प्रमुख भारतीय प्रधानमंत्री से भी मुलाकात कर सकते हैं।

आधिकारिक सूत्रों के हवाले से द हिंदू ने रिपोर्ट दी है कि अमेरिका और रूस के खुफिया प्रमुख अपने प्रतिनिधिमंडल के साथ नई दिल्ली पहुंचे और अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर दोनों देश आपस में काफी करीबी संपर्क में हैं। द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका की सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी (सीआईए) के प्रमुख विलियम बर्न्स के नेतृत्व में खुफिया और सुरक्षा अधिकारियों का एक अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल भारत पहुंचा है और भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल के साथ बातचीत की गई है। मंगलवार को अफगानिस्तान में लोगों को निकालने की कोशिश और तालिबान सरकार के गठन से उत्पन्न कई मुद्दों पर चर्चा की गई है।

विदेश मंत्रालय ने कहा है कि बुधवार को रूसी सिक्योरिटी काउंसिल के सचिव जनरल निकोले पेत्रुशेव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, एनएसए डोभाल और विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात करेंगे। एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक रुसी रक्षा सचिव आज भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और विदेश मंत्री एस जयशंकर और एनएसए अजीत डोवाल के साथ बैठक करेंगे, जिसमें अफगानिस्तान संकट के बीच उपजे सुरक्षा हालातों पर बैठक की जाएगी। सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक के दौरान अफगानिस्तान संकट के बीच सुरक्षा व्यवस्था, राजनीतिक और मानवीय सहायता देने पर बातचीत की जाएगी। सूत्रों ने बताया है कि इस बैठक के दौरान भारत और रूस के बीच राजनीतिक सुरक्षा सहयोग और अफगानिस्तान के मुद्दे पर बातचीत की जाएगी।

अफगानिस्तान में तालिबान द्वारा अंतरिम सरकार के गठन के बाद भारत, अमेरिका और रूस के बीच अलग अलग होने वाली ये बैठकें काफी ज्यादा महत्वपूर्ण हैं। द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक, साउथ ब्लॉक में में अमेरिकी और रूसी अधिकारियों के साथ अलग अलग बैठकें होंगी। अफगानिस्तान में तालिबान ने मोहम्मद हसन अखुंद और अब्दुल गनी बरादर के नेतृत्व में एक अंतरिम सरकार की घोषणा कर दी है। वहीं, आने वाले वक्त में एससीओ और क्वाड शिखर सम्मेलन होने वाले हैं। क्वाड की बैठक में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन शामिल होंगे। लिहाजा, दोनों देशों के सुरक्षा और खुफिया उच्चाधिकारियों का भारत दौरा काफी अहम है।

बता दें कि 16 सितंबर को भारत एससीओ (शंघाई सहयोग संगठन) की बैठक में शामिल है, जिसमें माना जा रहा है कि पीएम मोदी अफगानिस्तान में आतंकियों का साथ देने के लिए पाकिस्तान को बेनकाब कर सकते हैं। ये बैठक 16 और 17 सितंबर को की जाएगी। अफगानिस्तान में तालिबान का शासन स्थापित होने के बाद भारत को कश्मीर में आतंकी वारदातों में इजाफा होने और अफगानिस्तान की जमीन का भारत के खिलाफ इस्तेमाल होने की आशंका है।

Huge meeting in India regarding Afghanistan, NSA Ajit Doval and heads of US and Russian security agencies are present

Share This :
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Join #Khabar WhatsApp Group.