Type to search

NSE की पूर्व CEO चित्रा रामकृष्ण के घर पर इनकम टैक्स की रेड

कारोबार जरुर पढ़ें देश

NSE की पूर्व CEO चित्रा रामकृष्ण के घर पर इनकम टैक्स की रेड

Share

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) की पूर्व सीईओ चित्रा रामकृष्ण के मुंबई के निवास पर इनकम टैक्स की रेड हुई है. उन पर आध्यात्मिक गुरू के साथ गोपनीय जानकारी को साझा करने का आरोप है. इससे पहले सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (Sebi) ने 11 फरवरी को रामकृष्ण पर जुर्माना लगाया था. मार्केट रेगुलेटर ने एक्सचेंज की आंतरिक गोपनीय जानकारी को किसी अज्ञात व्यक्ति के साथ साझा करने के लिए चित्रा पर 3 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था.

इसके अलावा चित्रा पर एक वरिष्ठ अधिकारी आनंद सुब्रमण्यन की नियुक्ति में अनियमितता का भी आरोप है. इसके लिए NSE और वरिष्ठ मैनेजमेंट भी जिम्मेदार था. रामकृष्ण ने कहा था कि सुब्रमण्यन के कंपनसेशन के संबंध में फैसलों पर उन्हें हिमालय में रहने वाले एक योगी द्वारा सलाह दी जा रही थी. सेबी के आदेश के मुताबिक, रामकृष्ण, जिन्होंने दिसंबर 2016 में पद छोड़ा था, ने अज्ञात व्यक्ति के साथ प्रबंधन के ढांचे, डिविडेंड की स्थिति, वित्तीय नतीजों, मानव संसाधन की पॉलिसी और संबंधित मामलों, रेगुलेटर को रिस्पॉन्स जैसी जानकारी को अज्ञात व्यक्ति के साथ साझा किया था. चित्रा ने साल 2014 और 2016 के बीच ईमेल आईडी [email protected] से लिखा था.

सुब्रमण्यन 1 अप्रैल 2013 से NSE के चीफ स्ट्रैटजिक एडवायजर रहे थे. और उन्हें 21 अक्टूबर 2016 तक ग्रुप ऑपरेटिंग ऑफिसर और एमडी और सीईओ के एडवायजर के तौर पर नियुक्त किया गया था. मार्केट रेगुलेटर के आदेश के मुताबिक, रामकृष्ण सुब्रमण्यन को NSE में चीफ स्ट्रैटजिक एडवायजर के तौर पर लेकर आईं थीं. लेकिन चित्रा उन्हें कंसल्टेंट के तौर पर लाईं थीं, जिनका काम हफ्ते में चार दिन का था. इससे पहले उन्होंने Balmer and Lawrie में मिड-लेवल मैनेजर के तौर पर काम किया था. और उन्हें पहले शेयर बाजार का कोई अनुभव नहीं था.

Balmer and Lawrie में उनकी सैलरी 15 लाख रुपये सालाना थी और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर यह बढ़कर 1.68 करोड़ रुपये पर पहुंच गई थी. बता दें कि रामकृष्ण अप्रैल 2013 से दिसंबर 2016 तक नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) की एमडी एवं सीईओ थीं.

Income tax raid on the house of Chitra Ramakrishna, former CEO of NSE

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *