Type to search

IND vs NZ : रांची में होने वाले आज के मैच पर दर्ज याचिका पर झारखंड हाई कोर्ट का बड़ा फैसला

खेल जरुर पढ़ें देश

IND vs NZ : रांची में होने वाले आज के मैच पर दर्ज याचिका पर झारखंड हाई कोर्ट का बड़ा फैसला

Share

रांची – न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम इस समय भारत के दौरे पर है जहां इस समय वो मेजबान देश के साथ तीन मैचों की टी20 सीरीज खेल रही है. सीरीज का पहला मैच जयपुर के सवाईमान सिंह स्टेडियम में खेला गया था जिसमें भारत ने जीत हासिल की थी. अब दूसरा मैच शुक्रवार को झारखंड राज्य क्रिकेट संघ स्टेडियम में खेला जाना है. इस मैच के आयोजन पर संकट के बादल मंडारने लगे थे.

इस मैच को रद्द कराने के लिए झारखंड उच्च न्यायालय में एक याचिका दायर की गई थी. याचिकाकर्ता ने अनुरोध किया था कि अगर मैच रद्द नहीं होता है तो भी कोरोना महामारी को देखते हुए 50 प्रतिशत दर्शकों को ही प्रवेश की अनुमति दी जाए. इस जनहित याचिका को झारखंड उच्च न्यायालय ने गुरुवार को ही बिना कोई निर्देश दिए खारिज कर दिया. याचिकाकर्ता ने भारत और न्यूजीलैंड के बीच दूसरे टी20 मैच में सौ फीसदी दर्शकों को प्रवेश की अनुमति पर रोक लगाने की मांग की थी. यह चूंकि अंतरराष्ट्रीय मसला है और क्रिकेट मैच की तैयारी पूरी हो चुकी है लिहाजा मुख्य न्यायाधीश डॉक्टर रवि रंजन और न्यायाधीश सुजीत नारायण प्रसाद की खंडपीठ ने बिना कोई निर्देश दिए याचिका खारिज कर दी.

झारखंड उच्च न्यायालय के अधिवक्ता धीरज कुमार ने झारखंड राज्य क्रिकेट संघ के जेएससीए स्टेडियम में न्यूजीलैंड और भारत के बीच होने वाले सीरीज के दूसरे टी20 मैच में शत प्रतिशत सीट दर्शकों के लिए खोले जाने के खिलाफ झारखंड उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दाखिल की थी. उन्होंने कहा था कि कोरोना संक्रमण को लेकर जब राज्य के मंदिर, सभी अदालतों सहित अन्य कार्यालय भी 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ काम कर रहे हैं तो किस नियम के तहत राज्य सरकार ने क्रिकेट स्टेडियम को 100 प्रतिशत क्षमता के साथ उपयोग करने की छूट दी है? याचिका में मैच को स्थगित करने अथवा शत प्रतिशत क्षमता से स्टेडियम के उपयोग पर रोक लगाने की मांग की गई थी. अधविक्ता ने याचिका पर जल्द सुनवाई के लिए अदालत में विशेष आग्रह भी किया था.

IND vs NZ: Jharkhand High Court’s big decision on the petition filed on today’s match in Ranchi

Share This :
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *