Type to search

ब्रिटेन की नई वैक्सीन नीति पर भारत ने जताया ऐतराज, कहा- ‘भेदभावपूर्ण’

दुनिया देश

ब्रिटेन की नई वैक्सीन नीति पर भारत ने जताया ऐतराज, कहा- ‘भेदभावपूर्ण’

Share

भारतीयों को लेकर ब्रिटेन की नई वैक्सीन पॉलिसी को भारत ने भेदभावपूर्ण नीति बताया है जिसमें वैक्सीन की दोनों डोज लेने वालों को भी अनिवार्य रूप से क्वारंटाइन में रहने को कहा गया है। भारत ने यह भी कहा है कि ब्रिटेन ने खुद भारत में बने टीके का इस्तेमाल किया है। ब्रिटेन के नए नियमों के मुताबिक “जिन भारतीय यात्रियों ने सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा निर्मित कोविशील्ड वैक्सीन की दोनों डोज ली है उन्हें बिना वैक्सीन का माना जाएगा और 10 दिन की अवधि के लिए क्वारंटाइन में रहना होगा।”

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा “मूल मुद्दा यह है कि कोविशील्ड वैक्सीन का मुख्य उत्पादक ब्रिटेन में ही है। हमने ब्रिटेन को उनके अनुरोध पर 50 लाख वैक्सीन की डोज पहुंचाई है। जो कि उनके स्वास्थ्य विभाग के द्वारा इस्तेमाल की गई है।” बयान में आगे कहा गया है कि ”कोविशील्ड को मान्यता न देना एक भेदभावपूर्ण नीति है। विदेश मंत्री ने ब्रिटेन के अपने समकक्ष के साथ इस मुद्दे को उठाया है। मामले को जल्द से जल्द सुलझाने का आश्वासन दिया गया है।”

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मंगलवार को एक बैठक के दौरान ब्रिटेन के विदेश मंत्री के समक्ष इस मुद्दे को उठाया और इस गतिरोध के शीघ्र समाधान का आग्रह किया। बयान में कहा गया है “हमने अपने सहयोगी देशों को टीकों की पारस्परिक मान्यता की पेशकश की है लेकिन ये पारस्परिक क्रियाएं हैं। लेकिन हम संतुष्ट नहीं होते हैं तो हम पारस्परिक उपायों को लागू करने के लिए स्वतंत्र होंगे। विदेश मंत्री जयशंकर ने बैठक के बाद कहा कि उन्होंने पारस्परिक हित में गतिरोध के शीघ्र समाधान का आग्रह किया है।

India objected to Britain’s new vaccine policy, said – ‘discriminatory’

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *