Type to search

भारत ओमाइक्रोन से लड़ने के लिए तैयार! सीरम इंस्टीट्यूट ने मांगी वैक्सीन बूस्टर डोज की मंजूरी

जरुर पढ़ें देश

भारत ओमाइक्रोन से लड़ने के लिए तैयार! सीरम इंस्टीट्यूट ने मांगी वैक्सीन बूस्टर डोज की मंजूरी

Share

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने ओमाइक्रोन वैरिएंट पर बढ़ते संकट के बीच भारत में अपने कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड की बूस्टर डोज के लिए ड्रग एन्फोर्समेंट एडमिनिस्ट्रेशन से मंजूरी मांगी है। इस मामले में शामिल कुछ अधिकारियों ने समाचार एजेंसी एएनआई को यह जानकारी दी है। अधिकारियों के मुताबिक, कोरोना के नए वेरिएंट ओमाइक्रोन को खतरे को देखकर यह मंजूरी मांगी गई है।

SII भारत की पहली कंपनी है जिसने कोरोना के बूस्टर डोज के लिए मंजूरी मांगी है
सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया भारत की पहली कंपनी है जिसने कोरोना की बूस्टर डोज के लिए मंजूरी मांगी है। केंद्र सरकार ने सांसद को यह भी बताया है कि कोरोना टीकाकरण के लिए गठित ‘नेशनल टेक्निकल ग्रुप ऑफ इम्यूनाइजेशन’ और ‘नेशनल एक्सपर्ट्स ग्रुप’ भी बूस्टर डोज के वैज्ञानिक पहलू पर विचार कर रहे हैं।

इन राज्यों ने भी केंद्र से मांगी बूस्टर डोज
राजस्थान, छत्तीसगढ़, कर्नाटक और केरल जैसे राज्यों ने केंद्र सरकार से ओमाइक्रोन वेरिएंट सामने आने के बाद बूस्टर डोज की अनुमति देने की मांग की है।

ऑक्सफोर्ड के वैज्ञानिक खोज रहे हैं नई वैक्सीन – पूनावाला
हाल ही में एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के प्रमुख अदार पूनावाला ने कहा कि यह संभव है कि ऑक्सफोर्ड के वैज्ञानिक नई वैक्सीन की तलाश कर रहे है जो इस नए वेरिएंट के खिलाफ बूस्टर डोज की तरह काम करेगी।

जिन लोगों में इस वेरिएंट को देखा गया है वह पूरी तरह से वेक्सीनेटेड है
24 नवंबर को सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में कोरोना के नए ओमाइक्रोन वेरिएंट की सूचना मिली थी। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, इस वेरिएंट में सबसे अधिक उत्परिवर्तन हैं। चिंताजनक बात यह है कि वैरिएंट के स्पाइक प्रोटीन में सबसे बड़े बदलाव का कारण यह हो सकता है कि यह पहले वेरिएंट्स से भी तेजी से फैल सकता है। दक्षिण अफ्रीका के स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार, जिन लोगों में इस वैरिएंट को देखा गया है, उनका पूरा टीकाकरण हो चूका था।

India ready to fight Omicron! Serum Institute seeks approval for vaccine booster dose

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *