Type to search

फिलीपींस को ब्रह्मोस मिसाइल निर्यात करेगा भारत, 374 मिलियन डॉलर में डील फाइनल

जरुर पढ़ें दुनिया देश

फिलीपींस को ब्रह्मोस मिसाइल निर्यात करेगा भारत, 374 मिलियन डॉलर में डील फाइनल

Share

भारत को ब्रह्मोस मिसाइलों के लिए अपना पहला निर्यात आदेश शुक्रवार को मिला, जब फिलीपींस के रक्षा मंत्रालय ने ब्रह्मोस एयरोस्पेस प्राइवेट लिमिटेड (बीएपीएल) के साथ मिसाइलों की एक अज्ञात संख्या की आपूर्ति के लिए 374 मिलियन डॉलर के अनुबंध पर हस्ताक्षर किए. दिलचस्‍प बात यह है कि फिलीपींस अमेरिका का सहयोगी है, लेकिन चीन के खिलाफ सैन्य तैयारी के लिए उसने भारत-रूस द्वारा संयुक्त रूप से बनाई गई ब्रह्मोस मिसाइल पर भरोसा जताया है.

बीएपीएल, एक भारत-रूसी संयुक्त उद्यम, सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस का उत्पादन करता है जिसे पनडुब्बियों, जहाजों, विमानों या भूमि प्लेटफार्मों से लॉन्च किया जा सकता है. सैन्य अधिकारियों ने कहा कि भारत पहले ही लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश में चीन के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा के साथ कई रणनीतिक स्थानों पर बड़ी संख्या में ब्रह्मोस मिसाइलों और अन्य प्रमुख संपत्तियों को तैनात कर चुका है.

रक्षा मंत्रालय ने कहा कि बीएपीएल ने फिलीपींस गणराज्य के राष्ट्रीय रक्षा विभाग के साथ 28 जनवरी, 2022 को फिलीपींस को तट-आधारित एंटी-शिप मिसाइल सिस्टम की आपूर्ति के लिए एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए हैं. बीएपीएल रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन की एक संयुक्त उद्यम कंपनी है. यह अनुबंध भारत सरकार की जिम्मेदार रक्षा निर्यात को बढ़ावा देने की नीति के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है. ब्रह्मोस निर्यात ऑर्डर इस क्षेत्र में देश के लिए सबसे बड़ा होगा और भारत को हथियार निर्यातक देशों के बीच आगे बढ़ाने की संभावना है क्योंकि मिसाइल के लिए अन्य मित्र देशों से भी अधिक ऑर्डर की उम्मीद है. यह कुछ अन्य देशों के साथ भी बातचीत के उन्नत चरण में है. अतिरिक्त रेंज और अन्य आधुनिक तकनीकों को इसमें शामिल किए जाने के कारण मिसाइल भी अधिक सक्षम हो रही है.

विशेषज्ञों का मानना ​​है कि इस खरीद से फिलीपींस के भारत के रणनीतिक संबंधों के भी आगे बढ़ने की उम्मीद है. हॉन्ग कॉन्ग से प्रकाशित साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट में विशेषज्ञों के हवाले से कहा गया है कि दुनिया की सबसे तेज सुपरसोनिक मिसाइल खरीदने के फिलीपींस के फैसले से उसकी सेना की ताकत काफी बढ़ जाएगी. इस मिसाइल के जरिए फिलीपींस अपने तटीय इलाकों की रक्षा करने में सक्षम होगा. गौरतलब है कि दक्षिण चीन सागर में चीन के अधिकारों को लेकर फिलीपींस के साथ विवाद लंबे समय से चल रहा है. यह क्रूज मिसाइल आवाज की स्‍पीड से भी लगभग तीन गुना तेज स्‍पीड से उड़ान भरती है. यह वेरिएंट करीब 290 किमी की दूरी तय कर सकता है. पिछले कुछ दिनों में फिलीपींस ने अपने सशस्त्र बलों के आधुनिकीकरण के लिए कई रक्षा सौदे किए हैं.

India to export BrahMos missile to Philippines, deal finalized for $374 million

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *