Type to search

भारत फिर ‘वैक्सीन मैत्री’ के तहत दूसरे देशों में भेजना शुरू करेगा वैक्सीन

दुनिया देश

भारत फिर ‘वैक्सीन मैत्री’ के तहत दूसरे देशों में भेजना शुरू करेगा वैक्सीन

Share

भारत जल्द ही वैक्सीन के मामले में आत्मनिर्भर बनने जा रहा है. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने साफ कर दिया है कि अक्टूबर के अंतिम सप्ताह से वैक्सीन बनाने वाली कम्पनियां विदेशों में भी वैक्सीन की सप्लाई कर पाएगी. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि डब्लूएचओ को कोवैक्स कार्यक्रम के तहत विदेशों में भारतीय वैक्सीन की सप्लाई की जाएगी. यह वैक्सीन देसी जरूरतों को पूरा करने के बाद विदेशों में वैक्सीन की सप्लाई करेगी.

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा है कि देश में पहली बार वैक्सीन का प्रोडक्शन बड़े पैमान पर हुआ. देश में समय पर कोविड को लेकर समय पर रिसर्च हुआ. अभी परिणाम यह है कि सितंबर महीने में भारतीय कम्पनियों की ओर से 26 करोड़ डोज वैक्सीन मिला. पहले 10 करोड़ के लिए 85 दिन, दूसरे 10 करोड़ के लिए 45 दिन और तीसरे 10 करोड़ के लिए 29 दिनों का समय लगा. चालीस करोड़ तक पहुंचने में 24 दिन और 50 करोड़ तक पहुंचने में 20 दिनों का समय लगा. पिछले 70 से 80 करोड़ का लक्ष्य 11 दिनों में पूरा किया.

मनसुख मांडविया ने कहा कि देश में वैक्सीनेशन कार्यक्रम के तहत चार दिन ऐसे थे जब एक करोड़ से अधिक वैक्सीन लगा. उन्होंने कहा कि वैक्सीन का प्रोडक्शन बहुत तेजी से बढ़ रहा है. वैक्सीनेशन का कार्यक्रम बहुत तेजी से बढ़ रहा है. अगले महीने 30 करोड़ डोज मिलने की संभावना है. मनसुख मांडविया ने साफ किया कि वैक्सीन बनाने वाली कई कम्पनी आने वाले दिनों में प्रोडक्शन करने जा रही है. ऐसे में हमारी जरूरतों को पूरा करने के बाद कंपनी और भी अधिक प्रोडक्शन करेंगे. उन्होंने कहा कि वैक्सीन मैत्री कार्यक्रम के तहत हम दुनियां को भी मदद करेंगे.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि सरकार देशभर में कोविड-19 टीकाकरण का दायरा विस्तृत करने और लोगों को टीके लगाने की गति को तेज करने के लिए प्रतिबद्ध है. कोविड-19 के टीके को सभी के लिए उपलब्ध कराने के लिए नया चरण 21 जून 2021 से शुरू किया गया था. टीकाकरण अभियान की रफ्तार को अधिक से अधिक टीके की उपलब्धता के जरिए बढ़ाया गया है. इसके तहत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को टीके की उपलब्धता के बारे में पूर्व सूचना दी जाती है, ताकि वे बेहतर योजना के साथ टीके लगाने का बंदोबस्त कर सकें और टीके की आपूर्ति श्रृंखला को दुरुस्त किया जा सके.

India will again start sending vaccine to other countries under ‘Vaccine Maitri ‘

Share This :
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *