Type to search

भारत पहली बार इमरजेंसी रिजर्व से निकालेगा 50 लाख बैरल ईंधन तेल, 3 रु प्रति लीटर तक घट सकती हैं कीमतें

कारोबार जरुर पढ़ें देश

भारत पहली बार इमरजेंसी रिजर्व से निकालेगा 50 लाख बैरल ईंधन तेल, 3 रु प्रति लीटर तक घट सकती हैं कीमतें

Share

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों से निपटने के लिए भारत पहली बार अपने इमरजेंसी तेल भंडार से 50 लाख बैरल तेल रिलीज़ करेगा। इसके सम्बंधित घोषणा जल्द की जा सकती है। संयुक्त राज्य अमेरिका, भारत और जापान सहित कई प्रमुख देश कच्चे तेल के इमरजेंसी स्टॉक को रिलीज़ करने की योजना बना रहा है। इस कदम से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कमी आ सकती है।

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है कि तरल हाइड्रोकार्बन की कीमत उचित और बाजार कारकों के आधार पर निर्धारित की जानी चाहिए। तेल उत्पादक देश जानबूझकर अपनी आपूर्ति या उत्पादन मांग से कम रखते हैं। भारत इस पर बार-बार चिंता जता चुका है। तेल उत्पादक देशों से कम आपूर्ति के कारण अंतरराष्ट्रीय बाजारों में कीमतों में तेज वृद्धि हुई है।

केडिया कमोडिटीज के निदेशक अजय केडिया के मुताबिक अगर पेट्रोलियम कंपनी कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट का फायदा आम आदमी को देती है तो पेट्रोल-डीजल के दाम में 2 से 3 रुपये प्रति लीटर की कमी आ सकती है. अगर आने वाले दिनों में डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोर होता है तो कीमतों में गिरावट मुश्किल होगी। कच्चा तेल अभी 8080 प्रति बैरल के आसपास है।

क्रूड की कीमत 70 डॉलर पर लाने की कोशिश
ऊर्जा विशेषज्ञ नरेंद्र तनेजा ने कहा कि बाजार में कच्चे तेल की आपूर्ति बढ़ाने के लिए इमरजेंसी तेल भंडार से कच्चे तेल की मात्रा रिलीज़ की जा सकती है। संयुक्त राज्य अमेरिका, भारत, दक्षिण कोरिया और जापान 70 प्रति बैरल पर जोर दे रहे हैं। चीन भी सामरिक भंडार से तेल रिलीज़ करने की तैयारी कर रहा है। अगर क्रूड की कीमत 70 डॉलर तक गिरती है, तो जाहिर तौर पर भारतीय उपभोक्ताओं को भी पेट्रोल-डीजल और एलपीजी की कम कीमत से फायदा होगा।

India will withdraw 50 lakh barrels of fuel oil from emergency reserve for the first time, prices may drop by Rs 3 per liter

Share This :

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *