Type to search

यूक्रेन में फिर फंसे भारतीय स्टूडेंट्स! रूसी बमबारी ने बढ़ाई टेंशन

दुनिया

यूक्रेन में फिर फंसे भारतीय स्टूडेंट्स! रूसी बमबारी ने बढ़ाई टेंशन

Ukraine
Share on:

यूक्रेन में अपनी पढ़ाई पूरा करने के लिए कई सारे भारतीय स्टूडेंट्स एक बार फिर से वहां लौटे हैं. लेकिन रूस द्वारा हाल ही में की गई बमबारी की वजह से Indian Students के बीच अपनी सुरक्षा को लेकर चिंता है. देश की कई यूनिवर्सिटीज ने एक बार फिर से अपनी रेगुलर क्लास को बंद कर दिया है और ऑनलाइन मोड में पढ़ाई शुरू कर दी है. इस वजह से स्टूडेंट्स को Ukraine छोड़ने, भारत लौटने या माल्दोवा और हंगरी जैसे पड़ोसी देशों में जाने जैसे तीन विकल्प चुनने को मजबूर होना पड़ा है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कई सारे यूक्रेन के कॉलेजों ने अपने यहां ऑफलाइन क्लास की शुरुआत की. इसके बाद पिछले दो महीनों के दौरान कई सारे भारतीय स्टूडेंट्स यूक्रेन वापस लौटे. केरल के त्रिवेंद्रम के रहने वाले और नेशनल पिरोगोव मेमोरियल मेडिकल यूनिवर्सिटी में मेडिकल के फाइनल ईयर के स्टूडेंट जिनोविंस ने बताया कि लगभग 30 स्टूडेंट्स भारत से यूक्रेन लौट आए और अब उनमें से कुछ पड़ोसी देशों में रिलोकेट करने की योजना बना रहे हैं.

फरवरी और मार्च में जैसे ही Russia Ukraine War शुरू हुआ, वहां मेडिकल की पढ़ाई कर रहे कई भारतीय स्टूडेंट्स भारत लौट आए. अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिए चिंतित स्टूडेंट्स ने सुप्रीम कोर्ट में कई सारी याचिकाएं भी दी हैं. इन याचिकाओं में स्टूडेंट्स का कहना है कि भारतीय कानून युद्ध की वजह से यूक्रेन छोड़कर लौटने वाले स्टूडेंट्स को भारतीय मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन देने की इजाजत नहीं देता है. इस वजह से स्टूडेंट्स यूक्रेन के खराब हालातों के बाद भी वहां लौटने का जोखिम उठाने को तैयार हैं.

कुछ दिन पहले ही रूस को क्रीमिया से जोड़ने वाले पुल को तहस-नहस कर दिया गया. रूस ने आरोप लगाया कि यूक्रेन ने इस घटना को अंजाम दिया है. वहीं, फिर यूक्रेन ने बताया कि देशभर के कई शहरों पर मिसाइलों से अटैक किया गया है. यही वजह है कि यूक्रेन में मौजूद भारतीय दूतावास ने वहां लौट रहे भारतीयों के लिए एक ट्रैवल एडवायजरी भी जारी की है. दूतावास ने कहा है कि भारतीय नागरिकों को बताया जाता है कि वे युद्ध से तबाह हुए यूक्रेन की गैर-जरूरी यात्रा करने से बचें.

Indian students trapped in Ukraine again! Russian bombing increased tension

Asit Mandal

Share on:
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *