Type to search

जम्मू-कश्मीर : अमित शाह ने J&K को दिए ये संदेश

जरुर पढ़ें देश राजनीति

जम्मू-कश्मीर : अमित शाह ने J&K को दिए ये संदेश

Share

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) का जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) दौरा पूरा हो गया है. अनुच्छेद 370 (Article 370) हटने के बाद पहली बार केंद्र शासित प्रदेश पहुंचे शाह ने ‘एक भारत’ की झलक दिखाई. यहां उन्होंने संदेश दिया है कि आतंकवाद (Terrorism) के खिलाफ जंग में जान गंवाने वाले शहीदों और उनके परिवार के साथ पूरा देश है. इस दौरान वो गुरुद्वारा, मंदिर गए और सूफी संतों से भी मिले. साथ ही उन्होंने कश्मीरियों से कहा है कि राज्य को नई ऊंचाइयों तक ले जाने के लिए विकास ही एकमात्र रास्ता है.

भारी सुरक्षा के बीच दौरा कर रहे शाह ने जब जनता के सामने जाकर बात की, तो सुरक्षा में भी ढील दी गई. इसका उदारहण है, उन्होंने जनता से खुलकर बात करने के लिए पोडियम पर लगे बुलेटप्रूफ ग्लास हटवा दिया थे. तीन दिवसीय यात्रा के दौरान शाह ने केंद्र शासित प्रदेश को ये पांच संदेश दिए.

एक भारत – दौरे के आखिरी दिन शाह जम्मू स्थित गुरुद्वारा डिगियाना आश्रम पहुंचे. इस दौरान उनके साथ लेफ्टिनेंट गवर्नर मनोज सिन्हा भी मौजूद ते. इसके बाद वो गांदरबल के खीर भवानी दुर्गा मंदिर पहुंचे. आखिरी दिन उन्होंने सूफी संतों से भी मुलाकात की. उन्होंने ट्वीट किया था कि कश्मीर शुरुआत से ही भारत की समृद्ध विरासत का केंद्र बिंदु रहा है. उन्होंने लिखा, ‘सूफी संस्कृति भी उसी समृद्धता का एक भाग है, जो शांति और उदारवाद की प्रतीक है. आज उसी कड़ी में श्रीनगर में सूफी संतों से भेंट कर कश्मीर की शांति और सहअस्तित्व को पुनर्स्थापित करने के लिए एक व्यापक चर्चा की.’

स्थानीय लोगों से जुड़ाव – कई खतरे की जानकारियां मिलने के बावजूद शाह ने श्रीनगर में स्थानीय लोगों से मिलकर सभी को चौंका दिया. ये लोग रैली में शामिल होने के लिए आए थे. बुलेटप्रूफ ग्लास हटवाने के बाद उन्होंने कहा, ‘मुझे ताना मारा गया, निंदा की गई… आज मैं आपसे खुलकर बात करना चाहता हूं, इसलिए यहां कोई बुलेटप्रूफ शील्ड या सुरक्षा नहीं है… फारूक साहब ने मुझे पाकिस्तान से बात करने का सुझाव दिया था, लेकिन मैं घाटी के युवा और लोगों से बात करना चाहता हूं.’

विकास ही एक रास्ता है
दौरे के दूसरे दिन शाह ने जम्मू में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT) के नए कैंपस का उद्घाटन किया. IIT का नया कैंपस 210 करोड़ रुपये की लागत से तैयार किया गया है. शाह ने कहा कि अगर 45 हजार युवा जम्मू-कश्मीर के गरीबों की सेवा में लगे, तो आतंकवादी कोई नुकसान नहीं पहुंचा पाएंगे और ये युवा कम समय जम्मू और कश्मीर बदल देंगे. इसके अलावा सर्विस सिलेक्शन बोर्ड की तरफ से 25 हजार सरकारी नौकरियां दी गई हैं. इनमें से 7 हजार लोगों को पहले ही अपॉइंटमेंट लैटर दिया जा चुका है. सरकार की भविष्य की योजनाओं को लेकर उन्होंने कहा कि अब तक 12 हजार करोड़ रुपये का निवेश हो चुका है और 2022 से पहले 51 हजार करोड़ रुपये का निवेश प्राप्त हो जाएगा.

जम्मू-कश्मीर में विकास परियोजनाओं के उद्घाटन के बाद उन्होंने ट्वीट किया, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में जल्द ही जम्मू व श्रीनगर में मेट्रो की शुरुआत होने वाली है और ₹700 करोड़ से जम्मू एयरपोर्ट का भी विकास होने वाला है. नई हेलीकॉप्टर पॉलिसी के तहत J&K के हर जिले में हेलीपैड बनाकर हर जिले को आपस में जोड़ने का भी काम हमने शुरू किया है.’

Jammu and Kashmir: Amit Shah gave this message to J&K

Share This :
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *