Type to search

जापान के PM फुमियो किशिदा का आज भारत दौरा, इन मुद्दों पर PM मोदी से होगी बातचीत

जरुर पढ़ें दुनिया देश राजनीति

जापान के PM फुमियो किशिदा का आज भारत दौरा, इन मुद्दों पर PM मोदी से होगी बातचीत

Share

जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा शनिवार को भारत पहुंच चुके हैं। यहां वे 14वें भारत-जापान शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे और भारतीय समकक्ष पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे। खबर है कि इस दौरान दोनों नेताओं के बीच यूक्रेन पर रूस के आक्रमण और चीन के साथ संबंधों के मुद्दा खासतौर से चर्चा होगी। चार देशों के समूह क्वाड में भारत और जापान के अलावा अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया भी शामिल हैं।

इस शिखर बैठक में दोनों पक्षों को द्विपक्षीय संबंधों के अलग-अलग आयमों की समीक्षा करने और इसे और आगे बढ़ाने के रास्तों पर विचार करने का मौका मिलेगा. बैठक के दौरान दोनों नेता साझा हितों से जुड़े क्षेत्रीयऔर अंतरराष्ट्रीय विषयों पर विचारों का आदान प्रदान करेंगे. माना जा रहा है कि दोनों नेता रूस और यूक्रेन के ताज़ा हालात पर भी चर्चा कर सकते हैं. इसके अलावा चीन पर भी बातचीत हो सकती है. बता दें कि जापान ने रूस को अलग-थलग करने के लिए व्यापक वित्तीय प्रतिबंधों की घोषणा की है. लेकिन भारत ने युद्ध में किसी भी देश का पक्ष नहीं लिया है और संयुक्त राष्ट्र में रूस के खिलाफ मतदान में भाग नहीं लिया.

हिंद-प्रशांत में चीन के बढ़ते कदमों के मद्देनजर पीएम किशिदा और पीएम मोदी क्षेत्र में साझेदारी मजबूत करने के लिए मुलाकात करेंगे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि शनिवार को होने वाली बैठक में क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर बातचीत का मौका मिलेगा। एक ओर जहां जापान ने रूस के खिलाफ आर्थिक प्रतिबंधों की घोषणा की है। वहीं, पड़ोसियों के इस संघर्ष में भारत किसी का पक्ष लेने से बच रहा है। संयुक्त राष्ट्र में भी भारत ने रूस के खिलाफ मतदान नहीं किया था। भारत का कहना है कि हिंद-प्रशांत क्षेत्र में स्थिरता लाने के लिए जापान के साथ संबंध काफी अहम हैं।

पिछले साल सितंबर में, क्वाड नेताओं ने ऐलान किया था कि जापान कोविड -19 टीकों और दवाओं में 100 मिलियन डॉलर के निवेश पर भारत के साथ काम करेगा. 2019-20 के लिए भारत और जापान के बीच द्विपक्षीय व्यापार 11.87 अरब डॉलर को पार कर गया. जापान से भारत का निर्यात 3.94 अरब डॉलर था जबकि जापान से भारत का आयात 7.93 अरब डॉलर था.

भारत का मुख्य निर्यात पेट्रोलियम उत्पाद, रसायन, मछली, कपड़े, लोहा और इस्पात उत्पाद, कपड़े और मशीनरी रहे हैं. विदेश मंत्रालय के अनुसार जापान से भारत के आयात में इलेक्ट्रिकल मशीनरी, लोहा और इस्पात उत्पाद, प्लास्टिक सामग्री, मोटर वाहनों के पुर्जे, कार्बनिक रसायन और धातु शामिल हैं. भारत में जापानी निवेश 2000 और 2019 के बीच 32 बिलियन डॉलर को छू गया, ये मुख्य रूप से ऑटोमोबाइल, विद्युत उपकरण, दूरसंचार, रसायन, बीमा और दवा क्षेत्रों में है.

Japan PM Fumio Kishida’s visit to India today, talks will be held with PM Modi on these issues

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *