Type to search

ASEAN-India Summit में जानें क्या कहा पीएम मोदी ने

जरुर पढ़ें देश

ASEAN-India Summit में जानें क्या कहा पीएम मोदी ने

Share
pm modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को 18वें आसियान-भारत शिखर सम्मेलन में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शिरकत की। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि चल रहे कोरोना वायरस महामारी ने सदस्य देशों के लिए बहुत सारी चुनौतियां पेश की हैं। यह चुनौतीपूर्ण समय भारत-आसियान मित्रता की भी परीक्षा थी। कोविड युग में हमारा आपसी सहयोग भविष्य में हमारे संबंधों को मजबूत करता रहेगा और हमारे लोगों के बीच सद्भावना का आधार बनेगा।

पीएम मोदी ने कहा, ‘’इतिहास गवाह है कि भारत और आसियान के बीच हजारों साल से जीवंत संबंध रहे हैं. इनकी झलक हमारे साझा मूल्य, परम्पराएं, भाषाएं, ग्रन्थ, वास्तुकला, संस्कृति, खान-पान, दिखाते हैं. आसियान की unity और centrality भारत के लिए सदैव एक महत्वपूर्ण प्राथमिकता रही है.’’ उन्होंने कहा, ‘’साल 2022 में हमारी पार्टनरशिप के 30 साल पूरे होंगे. भारत भी अपनी आज़ादी के 75 साल पूरे करेगा. मुझे बहुत हर्ष है कि इस महत्वपूर्ण पड़ाव को हम ‘आसियान-भारत मित्रता वर्ष’ के रूप में मनाएंगे.’’

पीएमओ के अनुसार, आसियान-भारत रणनीतिक साझेदारी साझा भौगोलिक, ऐतिहासिक और सामाजिक विकास के संबंधों की मजबूत नींव पर खड़ी है। आसियान हमारी एक्ट ईस्ट पॉलिसी और इंडो-पैसिफिक की हमारी व्‍यापक परिकल्‍पना का केंद्र है। भारत और आसियान में अनेक संवाद तंत्र हैं, जो नियमित रूप से मिलते हैं, जिसमें एक शिखर सम्मेलन, मंत्रिस्तरीय बैठकें और वरिष्ठ अधिकारियों की बैठकें शामिल हैं। साल 2022 में आसियान-भारत के रिश्तों को 30 साल पूरे हो रहे हैं। यानी साल 2022 आसियान-भारत संबंधों के 30 वर्षों का गवाह बनेगा।

इन मुद्दों पर चर्चा
18वें आसियान-भारत शिखर सम्मेलन कोरोना महामारी, अंतर्राष्ट्रीय विकास, व्यवसायों और अन्य मुद्दों पर केंद्रित है। इसके साथ ही सम्मेलन में रणनीतिक साझेदारी की स्थिति की समीक्षा, स्वास्थ्य, व्यापार और वाणिज्य, कनेक्टिविटी और शिक्षा व संस्कृति सहित प्रमुख क्षेत्रों में हुई प्रगति पर चर्चा होगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इटली और ब्रिटेन की पांच दिवसीय यात्रा पर गुरुवार को रवाना होंगे। इस दौरान वह जी-20 शिखर वार्ता में हिस्सा लेंगे। दो दिवसीय शिखर वार्ता 30 अक्तूबर से इटली में शुरू हो रही है। उसके बाद वह ग्लासगो, ब्रिटेन के दौरे पर जाएंगे। माना जा रहा है कि पीएम मोदी जी-20 की अहम बैठक में दुनिया से अफगानिस्तान पर संयुक्त दृष्टिकोण अपनाने का आह्वान करेंगे।

Know what PM Modi said in the ASEAN-India Summit

Share This :
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *