Type to search

रेलवे स्टेशन के बाहर सालों से बेच रहे थे लेमन सोडा, निकले PAK SPY

जरुर पढ़ें दुनिया देश

रेलवे स्टेशन के बाहर सालों से बेच रहे थे लेमन सोडा, निकले PAK SPY

Share

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आई एस आई (ISI) लगातार भारत के खिलाफ साजिश रच रही है. इसके लिए फिलहाल उसका फोकस इंटरनेशनल सीमा से सटे पंजाब के सरहदी इलाकों पर है. इस बीच देश में किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने से पहले पंजाब पुलिस की स्टेट स्पेशल आपरेशन सेल ने पाकिस्तान को भारत की गुप्त सूचनाएं पहुंचाने वाले दो आरोपियों को पकड़ा है.

एजेंसी सूत्रों के मुताबिक इन पर आरोप है कि ये दोनों आईएसआई के जासूस हैं जो भारतीय सेना और अंतर्राष्ट्रीय बॉर्डर से संबंधित खुफिया जानकारी पाकिस्तानी एजेंटों तक पहुंचा रहे थे. इस कार्रवाई में जिन दो जासूसों को गिरफ्तार किया गया है. उनके मोबाइल से भारतीय सेना (Army) की इमारतों, सैन्य वाहनों और कुछ नक्शों की तस्वीरें मिली हैं. वहीं इनके पास से देश की सुरक्षा से जुड़े कुछ खुफिया दस्तावेज भी मिले हैं जो पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी को भेजे गए थे. आरोपियों की पहचान कोलकाता निवासी जफर रियाज और बिहार के मधुबनी जिला स्थित भेजा गांव निवासी मोहम्मद शमशाद के तौर पर हुई है. इनमें जफर फिलहाल पाकिस्तान में रह रहा था जो अक्सर भारत आता जाता था.

बता दें कि पंजाब की स्टेट स्पेशल आपरेशन सेल की टीम ने दोनों पाकिस्तानी एजेंट्स को एक स्पेशल ऑपरेशन के बाद गिरफ्तार किया है. लेकिन एसओजी की टीम अभी इस गिरफ्तारी को जाहिर नहीं कर रही है. जानकारी के अनुसार इन दोनों आरोपियों को गुप्त सूचना के आधार अमृतसर रेलवे स्टेशन के बाहर से गिरफ्तार किया गया. यह दोनों दिखावे के लिए अमृतसर रेलवे स्टेशन के बाहर कई सालों से लेमन सोडा बेच रहे थे. दोनों से अमृतसर एयरफोर्स व इंडियन आर्मी की तस्वीरें भी हाथ लगी हैं. टीम को जब दोनों के खिलाफ पर्याप्त सबूत मिल गए तो स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल की टीम ने दोनों को रेलवे स्टेशन के बाहर से धर दबोचा.

एसओजी ने दोनों के मोबाइल कब्जे में ले लिए है. जांच के दौरान यह सामने आया कि जफर रियाज 2005 में पाकिस्तान चला गया था जहां उसने लाहौर के मॉडल टाउन की रहने वाली राबिया से निकाह कर लिया. राबिया ने जफर की मुलाकात पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के अफसर आवेश से करवाई. जिसने उसे भारत की जानकारियां हासिल करने के लिए बड़ी रकम का लालच दिया. इसके बाद वो अपनी बेगम राबिया को लेकर कोलकाता आ गया. इस बीच उसका ससुर शेर जहांगीर अहमद उसे पाकिस्तान में आकर रहने को कहता रहा लेकिन वो वहां नहीं गया.

दोनों आरोपियों से पूछताछ जारी है और अब एक टीम रियाज की पत्नी राबिया की जानकारियां जुटा रही है. आपको बताते चलें कि विभाग के आला सूत्र यह बता रहे हैं जल्द ही इस मामले में और भी कई गिरफ्तारियां होने की संभावना है. रियाज की पत्नी राबिया भी एजेंसी के राडार पर है. वहीं इन आरोपियों के साथ ISI के लिए काम कर रहे देश में मौजूद अन्य जासूसों की गिरफ्तारी के लिए कई टीमें अलग अलग जगहों पर दबिश दे रही हैं.

Lemon soda was sold outside the railway station for years, turned out to be PAK SPY

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *