Type to search

पाकिस्तान के ग्वादर में चीन के खिलाफ भारी प्रदर्शन

दुनिया देश

पाकिस्तान के ग्वादर में चीन के खिलाफ भारी प्रदर्शन

Share

पाकिस्तान का शासन भले ही चीन को अपना ‘सरकार’ माने, लेकिन पाकिस्तान की जनता में चीन को लेकर भारी आक्रोश फैल चुका है। पाकिस्तान की सरकार भले ही इस बात से इनकार करे, लेकिन पाकिस्तान की जनता बहुत अच्छे से चीन के खतरनाक मंसूबों को जानती है, लिहाजा पाकिस्तान में चीन के खिलाफ भारी आक्रोश फूट पड़ा है और ड्रैगन के खिलाफ लोग सड़कों पर उतर चुके हैं और भारी प्रदर्शन किए जा रहे हैं।

पाकिस्तान के लोग चीन की तानाशाही से तंग आने लगे हैं। पाकिस्तान के बंदरगाह वाले शहर ग्वादर में चीन के खिलाफ लोगों में भयानक गुस्सा फूट पड़ा है और लोग चीन के खिलाफ सड़कों पर भीषण प्रदर्शन कर रहे हैं। दरअसल, ग्वादर शहर में चीन की वजह से पाकिस्तान के लोगों को रोजमर्रा की जरूरी चीजों, जैसे पानी और बिजली के लिए भी तरसना पड़ता है। जो भी बिजली का उत्पादन होता है, वो चीन के लोगों और चीन की कंपनियों को दे दी जाती है। इसके अलावा पानी भी अपने नागरिकों को नहीं देकर पाकिस्तान का प्रशासन चीन के लोगों को दे देता है, जिससे लोग काफी तंग आ चुके हैं।

दूसरी तरफ चीन के कामगारों की सुरक्षा के लिए ग्वादर में हर दूसरे कदम पर पुलिस चौकियों का निर्माण किया गया है और ग्वादर के लोगों की हर पुलिस चौकी पर काफी सख्ती के साथ जांच की जाती है, जिसने पाकिस्तान के लोगों को गुस्से में भर दिया है और बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, बंदरगाह के निर्माण के साथ-साथ ग्वादर में चायनीज सिटी का भी निर्माण किया जा रहा है, जहां पर सिर्फ चीन के लोग रहेंगे और उस क्षेत्र में पाकिस्तान के लोगों का जाना निषेध कर दिया गया है। जिसको लेकर पाकिस्तान के अशांत दक्षिण-पश्चिम बलूचिस्तान प्रांत के तटीय शहर ग्वादर में पोर्ट रोड पर वाई चौक के पास कई राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं, नागरिक अधिकार कार्यकर्ताओं, मछुआरों ने जमकर विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है और पिछले एक हफ्ते से ज्यादा वक्त से सैकड़ों लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। पाकिस्तान के जंग अखबार ने रविवार को खबर दी है कि, प्रदर्शनकारी अनावश्यक सुरक्षा चौकियों को हटाने, पीने के पानी और बिजली की उपलब्धता, मकरान तट से मछली पकड़ने वाली बड़ी नौकाओं को हटाने और ईरान से लगी सीमा को पंजगुर से ग्वादर तक खोलने की मांग कर रहे हैं।

बता दें कि, सीपीईसी को लेकर भारत ने हमेशा से चीन का विरोध किया है, क्योंकि चीन का ये प्रोजेक्ट भारत की जमीन से होकर गुजरता है, जिसपर पाकिस्तान ने अवैध रूप से कब्जा कर रखा है। लिहाजा भारत सीपीईसी प्रोजेक्ट पर विरोध दर्ज कराता रहता है।

Massive protest against China in Gwadar, Pakistan

Share This :
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *