Type to search

मायावती ने उमाशंकर सिंह को बनाया विधानमंडल दल का नेता

देश राजनीति

मायावती ने उमाशंकर सिंह को बनाया विधानमंडल दल का नेता

Share

शाह आलम गुड्डु जमाली के इस्तीफ़े के बाद पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने उमाशंकर सिंह को बसपा विधानमंडल दल नेता बनाया है। इसके साथ बसपा संविधान दिवस कार्यक्रम का बहिष्कार करेगी। मायावती ने आरोप लगाया है कि सरकारें संविधान का पालन नहीं कर रही हैं। बसपा सुप्रीमो मायावती ने शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस में उमा शंकर सिंह के नाम का ऐलान किया। बता दें, आजमगढ़ जिले की मुबारकपुर सीट से बसपा विधायक शाह आलम ने गुरुवार को सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था।

शाह आलम ने इस्तीफे में लिखा है कि भारी मन से विधानसभा सदस्य और बसपा के हर पद से इस्तीफा दे रहा हूं। उन्होंने पार्टी की 21 नवंबर की बैठक का हवाला देते हुए लिखा है कि 2012 से पार्टी के प्रति निष्ठावान रहा और पार्टी की तरफ से मिली हर जिम्मेदारी को बखूबी निभाया भी, लेकिन लगता है मेरी उपेक्षा की जा रही है। ऐसे में अब आगे साथ रहने की कोई वजह नहीं है।

शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली आजमगढ़ के मुबारकपुर से 2012 तथा 2017 में विधानसभा का चुनाव जीते हैं। बसपा ने जमाली को 2014 में आजमगढ़ लोकसभा सीट से मुलायम सिंह यादव के खिलाफ भी मैदान में उतारा था। जमाली को दो लाख 70 हजार से अधिक वोट मिले थे। वहीं बलिया के रसड़ा विधानसभा क्षेत्र से सदस्य उमाशंकर सिंह 2012 के बाद 2017 में मोदी लहर में भी चुनाव जीते थे। रसड़ा विधानसभा क्षेत्र को फ्री वाइ-फाइ सेवा दिलाने वाले उमाशंकर सिंह को शुक्रवार को विधानमंडल दल का नेता घोषित करने के बाद बसपा मुखिया मायावती ने उनको बधाई भी दी है।

एसोसिएशन आफ डेमोक्रेटिक रिफार्म (एडीआर) ने उत्तर प्रदेश के विधायकों की जो कुंडली जारी की है, उसके अनुसार रसड़ा से बसपा के विधायक उमाशंकर सिंह अधिक सम्पत्ति वाले प्रदेश के टॉप दस विधायकों में हैं। बसपा विधायक उमाशंकर सिंह का नाम नौवें नम्बर पर दर्ज है। रसड़ा विधायक उमाशंकर सिंह आयकर विवरण में सबसे ज्यादा वार्षिक आय घोषित करने वाले विधायकों में शीर्ष पर हैं। धनी विधायकों में नम्बर एक पर आजमगढ़ के मुबारकपुर से विधायक शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली का नाम है।

Mayawati made Umashankar Singh the leader of the legislature party

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *