Type to search

रिम्स में लालू यादव से मिलना नहीं होगा आसान, जेल मैनुअल सख्त

जरुर पढ़ें देश

रिम्स में लालू यादव से मिलना नहीं होगा आसान, जेल मैनुअल सख्त

Share

चारा घोटाले के डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद विचाराधीन कैदी लालू प्रसाद यादव रिम्स के पेइंग वार्ड में स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं. लालू पिछली बार भी सजा के दौरान रिम्स में इलाज के लिए भर्ती हुए थे तब उनसे अस्पताल में मिलने के लिए बिना जेल मैन्युअल का पालन किए भी लोग पहुंच जा रहे थे. पिछली बार रिम्स में जेल मैन्युअल उल्लंघन को लेकर पुलिस की खूब की किरकिरी हुई थी. ऐसे में इस बार रिम्स के पेइंग वार्ड की सुरक्षा व्यवस्था पहले से ज्यादा चाक चौबंद की गयी है. वहीं जेल मैन्युअल का उल्लंघन न हो और लालू प्रसाद से बगैर जेल प्रशासन की अनुमति से कोई भी व्यक्ति न मिल पाए इसे लेकर रिम्स के पेइंग वार्ड मे तैनात सुरक्षाकर्मियों को ब्रीफ किया गया है.

बता दें, राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव जब पूर्व में भी चारा घोटाले से जुड़े मामले में जेल में सजायाफ्ता होते हुए रिम्स में इलाजरत थे. इस वक्त रिम्स में जेल मैन्युअल का उल्लंघन होता हुआ नजर आया था जिस कारण सरकार और पुलिस प्रशासन की भी खासी किरकिरी हुई थी. लेकिन, इस बार ऐसा न हो इसे लेकर मुकम्मल तैयारी की जा रही है.

रिम्स में जेल मैन्युअल के पालन को लेकर सदर डीएसपी प्रभात बरवार ने रिम्स के पेइंग वार्ड का निरीक्षण किया और जानकारी ली. पेइंग वार्ड की सुरक्षा व्यवस्था के साथ-साथ उन्होंने जवानो को भी ब्रीफ किया और जेल मैन्युअल का अनुपालन पूरी तरह से करने का निर्देश दिया. साथ ही उन्होंने कहा कि अगर किसी की भी तरह की लापरवाही सामने आएगी तो उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई से भी गुरेज नहीं किया जाएगा.

लालू प्रसाद की सुरक्षा की जिम्मेवारी डीएसपी स्तर के अधिकारी को दी गई है, जबकि समय-समय पर एसएसपी और सिटी एसपी भी सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेंगे. आरजेडी सुप्रीमो की सुरक्षा में 3 शिफ्ट में जवान नियुक्त होंगे. इसके लिए 36 से अधिक पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है. जेल मैनुअल के तहत लालू प्रसाद से रिम्स के चिकित्सकों को छोड़ कर किसी अन्य को मिलने की अनुमति नहीं है. हालांकि सप्ताह में एक दिन शनिवार को 3 लोगों को लालू प्रसाद से मिलने की अनुमति दी सकती है. लेकिन पेइंग वॉर्ड नंबर-11 के ईद-गिर्द अभी सुरक्षाकर्मी किसी को फटकने तक भी नहीं दे रहे हैं.

वहीं जेल मैन्युअल का उल्लंघन न हो इसके लिए उन्होन स्पष्ट कहा कि जवानो को इससे संबंधित जरूरी दिशा निर्देश और जेल मैन्युअल की विशेष तौर पर जानकारी देने की जरूरत है ताकि इस तरह की बातें न हो पाए. बता दें, लालू प्रसाद की सुरक्षा के लिए पर्याप्त सुरक्षाकर्मियों की व्यवस्था की गई है. मेटल डिटेक्टर की व्यवस्था भी की जा रही है. अब पेइंग वॉर्ड -11 के ईद-गिर्द त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था यानी थ्री लेयर सिक्योरिटी का जाल बुन दिया गया है. पहली सुरक्षा पेइंग वॉर्ड के मेन गेट पर की गई है, जबकि दूसरी सुरक्षा वॉर्ड के अंदर और तीसरी सुरक्षा व्यवस्था कमरे के बाहर की गई है. वहीं लालू प्रसाद अगर टहलने के लिए कमरे से बाहर निकलेंगे तो उस वक्त भी सुरक्षाकर्मी मौजूद रहेंगे.

Meeting Lalu Yadav in RIMS will not be easy, jail manual is strict

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *