Type to search

कोरोना से हर घंटे 45 से ज्यादा की मौतें, 3472 से ज्यादा नए मामले

देश

कोरोना से हर घंटे 45 से ज्यादा की मौतें, 3472 से ज्यादा नए मामले

Death
Share on:

भारत (India) में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर अब इतनी तेजी से बढ़ रहा है कि, हर दूसरे दिन संक्रमितों का आंकड़ा लाख को पार कर रहा है। देश में महामारी की चपेट में आए लोगों की संख्या 39 लाख के पार पहुंच गई है। शुक्रवार को स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटों के दौरान 83 हजार 341 नए मामले सामने आए हैं और 1096 लोगों की मौत (Death) हुई है। बता दें कि, लगातार दूसरे दिन कोरोना के 83 हजार से ज्यादा मरीज मिले हैं।

देश में अब कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 39 लाख 36 हजार हो गई है। इनमें से 68,472 लोगों की मौत हो चुकी है। एक्टिव केस की संख्या 8 लाख 31 हजार हो गई और 30 लाख 37 हजार लोग ठीक हो चुके हैं। संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या की तुलना में स्वस्थ हुए लोगों की संख्या करीब तीन गुना अधिक है।

पिछले 24 घंटे में साढ़े 11 लाख से ज्यादा नमूनों की जांच –
भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) की ओर से जारी आंकड़े के मुताबिक, देशभर में तीन सितंबर तक कुल 4,66,79,145 नमूनों की जांच की गई, जिनमें से गुरुवार को एक दिन में 11,69,765 नमूनों की जांच की गई। 

हर घंटे 45 से ज्यादा की मौत –
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों को देखें तो पिछले 24 घंटों यानि गुरुवार सुबह 8 बजे से लेकर शुक्रवार सुबह 8 बजे के दौरान देशभर में कोरोना वायरस के 83341 नए मामले सामने आए हैं, इन्हें मिनट के लिहाज से देखें तो हर मिनिट 57.87 मामले बैठ रहे हैं। कोरोना की वजह से मौतों के आंकड़ों पर नजर डालें तो वह और भी ज्यादा डरा रहा है, स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान देशभर में कोरोना की वजह से 1096 लोगों की जान गई है, यानि हर घंटे 45.66 लोगों को इस वायरस की वजह से अपनी जान गंवानी पड़ रही है।

यह है मृत्यु दर –
राहत की बात है कि मृत्यु दर और एक्टिव केस रेट में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। मृत्यु दर गिरकर 1.74% हो गई। इसके अलावा एक्टिव केस जिनका इलाज चल है उनकी दर भी घटकर 21% हो गई है। इसके साथ ही रिकवरी रेट यानी ठीक होने की दर 77% हो गई है। भारत में रिकवरी रेट लगातार बढ़ रहा है।

Asit Mandal

Share on:
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *