Type to search

MP: रानी कमलापति होगा हबीबगंज स्टेशन का नाम, केंद्र को भेजा प्रस्ताव

जरुर पढ़ें देश

MP: रानी कमलापति होगा हबीबगंज स्टेशन का नाम, केंद्र को भेजा प्रस्ताव

Share

भोपाल के हबीबगंज स्टेशन का नाम बदलने की तैयारी चल रही है। मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम रानी कमलापति स्टेशन रखने के लिए केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजा है। यह देश का पहला वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 नवंबर को इसका लोकार्पण करेंगे। जानकारी के मुताबिक, राज्य के परिवहन विभाग ने स्टेशन का नाम बदलने का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा था, जिसे शुक्रवार को मंजूरी दे दी गई। बता दें रानी कमलापति भोपाल की अंतिम गोंड आदिवासी शासक थीं।

हबीबगंज रेलवे स्टेशन का विकास 100 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है। ऐसा माना जाता है कि गोंड राजा सूरज सिंह शाह के पुत्र निजामशाह से रानी कमलापति का विवाह हुआ था। रानी कमलापति ने अपने पूरे जीवनकाल में अत्यंत बहादुरी और वीरता के साथ आक्रमणकारियों का सामना किया। गोंड रानी कमलापति की स्मृततियों को अझुण्ण बनाए रखने और उनके बलिदान के प्रति कृतज्ञतता की अभिव्यक्ति स्वरूप राज्य शासन ने हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नामकरण रानी कमलापति रेलवे स्टेशन के रूप में किए जाने का निर्णय लिया है।

गौरतलब है कि एमपी में सरकार जनजातीय सम्मेलन के जरिए आदिवासियों को 2023 के लिए साधान चाहती है। 2018 के विधानसभा चुनाव में आदिवासी बाहुल्य सीटों पर बीजेपी की हार हुई थी। इस बार के उपचुनाव में जोबट में जीत मिली है। इससे उत्साहित राज्य सरकार आदिवासियों को लुभाने की कोशिश में लगी है।

1979 में बना था हबीबगंज रेलवे स्टेशन
1947 में आजादी के बाद भारतीय रेल का 55 हजार किलोमीटर का नेटवर्क था। 1952 में मौजूदा रेल नेटवर्क को एडमिनिस्ट्रेटिव पर्पज के लिए 6 जोन में डिवाइड किया गया। इसके बाद कई स्टेशन बनाए गए। इनमें हबीबगंज भी शामिल था। हबीबगंज रेलवे स्टेशन का निर्माण 1979 में किया गया।

MP: Habibganj station will be named Rani Kamalapati, proposal sent to the center

Share This :
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *