Type to search

मुंडका अग्निकांड : धधकती बिल्डिंग की आग में अब तक 27 लोगों की दर्दनाक मौत

जरुर पढ़ें देश

मुंडका अग्निकांड : धधकती बिल्डिंग की आग में अब तक 27 लोगों की दर्दनाक मौत

Share

मुंडका में आग लगने के बाद दिल दहला देने वाले दृश्यों के बीच लोग अपने परिजनों के लिए दुआएं कर रहे थे। जैसे ही आग लगने का पता चला, लोग दूर-दूर से अपने रिश्तेदारों-दोस्तों का हाल-चाल लेने मौके पर पहुंचने लगे। वो मोबाइल में रिश्तेदारों की तस्वीर लोगों को दिखा रहे थे और पूछ रहे थे कि इन्हें देखा क्या, कैसे हैं ये? अफरा-तफरी के इस माहौल में मृतकों को निकाला जा रहा था और उनकी पहचान होते ही लोग दहाड़ खा रहे थे। एक बिल्डिंग में लगी आग ने कुल 27 जिंदगियां लील लीं। कई लोग जान बचाने के लिए खिड़कियों से कूदते दिखे तो कई लोग रस्सियों के सहारे इमारत से नीचे आते दिखाई दिए।

इस आग से 12 से ज्यादा लोग घायल हो गए। फिलहाल तलाशी और बचाव कार्य जारी है। इससे माना जा रहा है कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। इसी बीच दिल्ली पुलिस ने फैक्ट्री के मालिक वरुण गोयल और सतीश गोयल को हिरासत में लेने के बाद गैर इरादतन हत्या के आरोप में गिराफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि हादसे में कंपनी मालिक के पिता की भी मौत हो गई है। वहीं आज सुबह करीब 10 बजे एफएसएल की टीम जांच करने पहुंचेगी। मुंडका के मेट्रो पिलर संख्या 544 के पास पांच सौ वर्ग गज में बनी इमारत में लगी भीषण आग की जांच करने आज सुबह करीब 10 बजे दिल्ली फोरेंसिक टीम के अधिकारी पहुचेंगे। टीम शव के अवशेषों को कब्जे में लेकर जांच करेगी। इसके अलावा घटनास्थल की तफ्तीश की जाएगी।

बता दें कि मुंडका की जिस चार मंजिला इमारत में सीसीटीवी कैमरे और राउटर का निर्माण एवं पैकेजिंग होती है उसमें स्थानीय महिलाएं काम करती हैं। पहली मंजिल पर कंपनी का ऑफिस बना हुआ है। कंपनी के मालिक वरुण गोयल और अशोक कुमार हैं। बताया जाता है कि शुक्रवार शाम करीब 4.35 बजे इमारत की पहली मंजिल की सीढ़ी से धुआं निकलना शुरू हुआ और आग तेजी से पूरी इमारत में फैल गई। इसकी वजह से लोगों में भगदड़ मच गई। घटना के समय इमारत में करीब 76-77 लोग मौजूद थे। इस आग की वजह से कुछ देर के लिए मेट्रो का परिचालन भी बाधित हो गया था।

इमारत के मालिक के दोस्त ने घटना की सूचना पुलिस एवं दमकल को दी। मौके पर दमकल की एक-एक करके 30 गाड़ियां मौके पर पहुंची। जिसने आग पर काबू पाने के साथ ही बचाव कार्य शुरू किया। दमकल के अधिकारी ने बताया कि कुछ शव इस कदर जल चुके थे कि वे पहचान में नहीं आ रहे थे। आग लगने के बाद दमकल कर्मियों के अलावा स्थानीय लोगों ने भी काफी मदद की. पुलिस और एनडीआरएफ कर्मियों ने रस्सी की मदद से आग की लपटों के बीच घिरी इमारत में फंसे 50 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला.

Mundka fire: So far 27 people have died tragically in the blazing building fire

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *