Type to search

UP की सरकारी अस्पताल में जिन्दा जल गया नवजात शिशु, ड्यूटी पर स्टाफ था मोबाईल में व्यस्त; वॉर्मर मशीन पर था बच्चा

देश

UP की सरकारी अस्पताल में जिन्दा जल गया नवजात शिशु, ड्यूटी पर स्टाफ था मोबाईल में व्यस्त; वॉर्मर मशीन पर था बच्चा

Share

उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिला अस्पताल में एसएनसीयू (सिक न्यू बोर्न केयर यूनिट) में वॉर्मर मशीन के हीटिंग पैड पर रखा एक नवजात शिशु जिंदा जल गया। बच्चे का पूरा शरीर हरा हो गया था। गर्मी इतनी तेज थी कि बच्चे के सीने से लेकर पेट तक की त्वचा बुरी तरह जल गई थी और उसके शरीर से पसीना निकलने लगा था।

बच्चे को वार्मर पर रखे जाने के बाद कर्मचारियों ने ध्यान ही नहीं दिया। जब अस्पताल के कर्मचारियों ने उसे देखा तो उसके अंग सूज गए थे। इसके बाद तुरंत डॉक्टरों को सूचना दी गई। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर दीपक सेठ और एसएनसीयू के डॉक्टर जब तक वार्ड पहुंचे तब तक बच्चे की मौत हो चुकी थी.

घटना की जानकारी मिलते ही परिजन अस्पताल पहुंचे और आक्रोश व्यक्त करने लगे। मंजनपुर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर समझाया तो वह शांत हो गया। परिजनों का आरोप है कि एसएनसीयू वार्ड का स्टाफ मोबाइल में व्यस्त था। उन्होंने बच्चे पर ध्यान नहीं दिया।

महिला 14 अगस्त को डिलीवरी के लिए अस्पताल पहुंची थी
फतेहपुर के गांव हरिचंद्रपुर निवासी जुनैद अहमद की पत्नी मेहिलिका को 14 अगस्त को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था. शाम 6.15 बजे महिलिका ने बेटे को जन्म दिया। परिवार के लोग बहुत खुश थे। उन्हें यकीन था कि वह अस्पताल से छुट्टी लेकर घर जाएंगे। हालांकि डॉक्टरों ने कहा कि बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ नहीं है और उसे एसएनसीयू वार्ड में स्थानांतरित करना पड़ेगा।

परिवार के सदस्यों को पूरी रात नवजात के पास जाने नहीं दिया गया। रविवार सुबह सिर्फ बच्चे की नानी शबाना को उससे मिलने दिया गया।

पिता जुनैद का कहना है कि बच्चे के सर से धुआं निकल रहा था। एक डॉक्टर ने कहा- गलती के लिए खेद है…
पिता जुनैद ने बताया कि घटना के बारे में जब उन्होंने एक डॉक्टर से सवाल किया तो उन्होंने कहा- सॉरी गलती हो गई. इतना कहकर वह चला गया, बाद में नजर ही नहीं आया। मैं उसका नाम नहीं जानता, हालांकि अगर वह सामने आता है तो मैं उसे पहचान लूंगा।

परिजन बिना किसी कार्रवाई के अस्पताल छोड़ने को तैयार नहीं थे।

मामले की जांच शुरू
इंस्पेक्टर मनीष पांडे ने कहा कि नवजात के पिता जुनैद अहमद की शिकायत पर मामले की जांच की जा रही है. उधर, सीएमएस डॉ. दीपक सेठ ने भी कहा है कि जांच कराई जाएगी। दोषी पर मुकदमा चलाया जाएगा।

Share This :
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Join #Khabar WhatsApp Group.