Type to search

नीतीश कुमार ने मोदी सरकार को दिया अल्टीमेटम

देश राजनीति

नीतीश कुमार ने मोदी सरकार को दिया अल्टीमेटम

Share

जातीय जनगणना को लेकर बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने रविवार को दिल्ली में अपनी हनक दिखा दी है। उन्हेंन केंद्र सरकार को अल्टीमेटम दे दिया कि जातीय जनगणना को लेकर एक बार फिर से विचार करें। सीएम नीतीश कुमार नक्सल समस्या को लेकर दिल्ली में बैठक में शामिल होने गए थे। इस दौरान उन्होंने साफ कह दिया कि केंद्र सरकार जातीय जनगणना कराने पर विचार करें, ये सबके हित में है।

नीतीश कुमार के बयान का लहजा काफी कड़ा था और वो अल्टीमेटम देने वाला था। उन्होंने नक्सल समस्या की बैठक पर कुछ ना बोलते हुए सिर्फ जातीय जनगणना पर ही फोकस किया और अपने अंदाज में केंद्र सरकार को अल्टीमेटम दे दिया। इस दौरान सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि केंद्र सरकार ने जो सुप्रीम कोर्ट में कहा है, उस पर विचार करें। ये सबको पता है कि जातीय जनगणना कराने में थोड़ी परेशानी होगी लेकिन उसके लिए कर्मचारियों की ट्रेनिंग कराई जा सकती है। जातीय जनगणना में कई लाख जाति और उप जातियां आ जाएंगी। लेकिन उसका विभाजन तो किया ही जा सकता है। उसे एक कैटेगरी में बांटा जा सकता है। ये बहुत मुश्किल नहीं है। ये सबके लिए फायदेमंद है। पिछड़े लोगों को आगे लाने का ये बेहतर तरीका है।

उन्होंने कहा कि हम राज्य स्तर पर अपने सभी दलों के साथ एक बार फिर से मीटिंग कर इस पर विचार करेंगे। इशारों में ये भी संकेत दे दिये कि केंद्र सरकार जातीय जनगणना नहीं कराएगी तो बिहार सरकार सभी दलों के साथ मीटिंग कर अपना खुद का जातीय जनगणना करा लेगी। सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि साल 2011 में जो जातीय जनगणना हुई थी, वो जातीय जनगणना थी ही नहीं। वो आर्थिक आधारित जातीय जनगणना थी, जसिमें कई गलतियां थीं। इसलिए उसे प्रसारित नहीं किया गया था। केंद्र सरकार अगर सबका विकास चाहती है तो जातीय जनगणना कराए। उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर एक बार फिर मिलकर सभी बातों को साफ कर सकते हैं।

इस दौरान सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि केंद्र सरकार ने जो सुप्रीम कोर्ट में कहा है, उस पर विचार करें। ये सबको पता है कि जातीय जनगणना कराने में थोड़ी परेशानी होगी लेकिन उसके लिए कर्मचारियों की ट्रेनिंग कराई जा सकती है। जातीय जनगणना में कई लाख जाति और उप जातियां आ जाएंगी। लेकिन उसका विभाजन तो किया ही जा सकता है। उसे एक कैटेगरी में बांटा जा सकता है। ये बहुत मुश्किल नहीं है। ये सबके लिए फायदेमंद है। पिछड़े लोगों को आगे लाने का ये बेहतर तरीका है।

Nitish Kumar gave ultimatum to Modi government

Share This :
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *