Type to search

उत्तरी कोरिया में खिड़की खोलने पर मनाही, जाने क्यों

दुनिया

उत्तरी कोरिया में खिड़की खोलने पर मनाही, जाने क्यों

North Korea
Share on:

तानाशाह किम जोंग के उत्तर कोरिया में नई परेशानी खड़ी हो गई है। चीनी से आ रही पीली धूल के कारण लोगों का घरों से बाहर निकलना दुश्वार हो गया है। बात सिर्फ धूल की होती, तो काम चल सकता था, लेकिन उत्तर कोरियां को अंदेशा है कि इस धूल के साथ चीन से खतरनाक कोरोना वायरस भी घुसपैठ कर सकता है। इसलिए किम जोंग ने आदेश दिया है कि देश में सभी घरों की खिड़कियां बंद रखें।

बुधवार को उत्तर कोरिया के राज्य मीडिया ने विशेष मौसम क्षेत्रों के बाबत जानकारी को प्रसारित किया, जिसमें 22 अक्टूबर से देशभर में पीले रंग की धूल आने की चेतावनी दी। प्योंगयांग में रूसी दूतावास ने एक फेसबुक पोस्ट में कहा कि डीपीआरके के विदेश मंत्रालय ने राजनयिक मिशन और अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठनों को कड़ी सलाह दी कि वह अंदर ही रहें और और पूरे दिन खिड़कियां खोलने से बचें।

दूतावास ने लिखा, “जैसा कि हमें बताया गया था ये उपाय इस तथ्य के कारण हैं कि COVID-19 पीली धूल कणों के साथ DPRK के क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं। इस बीच सूत्रों ने एनके न्यूज़ को पुष्टि की कि गुरुवार को प्योंगयांग की सड़कों पर लगभग कोई भी नागरिक नहीं देखा गया।

चीन में धूल भरी आंधी का सर्वाधिक बुरा प्रभाव शिन्जियांग, इनर मंगोलिया, शान्क्शी और हबेई में देखा जा रहा है। मौसम विभाग के अनुसार, ग्रीष्म ऋतु से पहले चीन में धूल भरी आंधियों का आना एक सामान्य बात है, लेकिन कभी-कभी ये भयानक रूप ले लेती हैं और इसी का अंदेशा उत्तर कोरिया को है। आमतौर पर उत्तरी चीन से शुरू होने वाले रेतीले तूफ़ान का असर चीन के बाहर दक्षिण कोरिया और जापान तक देखा गया है।

Asit Mandal

Share on:
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *