Type to search

अब गाड़ी में नींबू-मिर्च लटकाने वालों का कटेगा चालान!

कारोबार देश

अब गाड़ी में नींबू-मिर्च लटकाने वालों का कटेगा चालान!

Share

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस अब वाहनों पर नींबू-मिर्च या काला कपड़ा लटका कर घूमने वालों से सख्ती से पेश आएगी। दरअसल, लोग अपनी गाड़ी को बुरी नजर से बचाने के लिए नंबर प्लेट पर नींबू-मिर्च या काला कपड़ा लटका देते हैं जिससे वाहन का नंबर प्लेट ठीक से नजर नहीं आता। ऐसे में ट्रैफिक नियम तोड़ने पर इन वाहनों का नंबर सीसीटीवी कैमरा या पुलिस की नजर में नहीं आता।

इसका फायदा उठाकर ऐसे वाहन नियम का उल्लंघन कर आसानी से बच निकलते हैं। लेकिन, अब पुलिस ने इन वाहनों से निपटने का रास्ता निकाल लिया है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के स्पेशल कमिश्नर डॉ. मुक्तेश चंद्र ने ऐसे वाहनों पर सख्त कार्रवाई करने का आदेश जारी किया है जिसके बाद इन वाहनों की छानबीन करने के लिए स्पेशल ड्राइव शुरू की गई है। इस ड्राइव के तहत अब ऐसे सभी वाहनों पर कार्रवाई की जाएगी जो नंबर प्लेट को छिपाने के लिए जानबूझकर नींबू- मिर्च, कपड़ा, या रस्सी या कोई भी चीज बांध देते हैं। स्पेशल कमिश्नर डॉ. मुक्तेश चंद्र ने कहा है कि पुलिस ऐसे वाहनों पर पैनी नजर रख रही है। अगर नंबर छिप भी जाते हैं तो पुलिस सॉफ्टवेयर की मदद से सही नंबर का पता लगा सकती है। जिसके बाद नियम तोड़ने वाले के सीधा घर पर चालान भेजा जाएगा।

स्पेशल कमिश्नर ने अपने ट्विटर हैंडल पर ऐसे वाहनों की कुछ तस्वीरें भी साझा की हैं और आम लोगों से अपील की है कि वाहनों पर इन चीजों को लटका कर नियम का उल्लंघन ना करें। उनके इस पोस्ट पर कुछ लोगों ने कमेंट करते हुए ऐसी ही गाड़ियों की कुछ तसवीरें शेयर की हैं। पुलिस कमिश्नर ने कहा है कि इन वाहनों पर भी पुलिस कार्रवाई करेगी। वाहन के नंबर प्लेट से किसी भी तरह की छेड़छाड़ करने पर या उसे ब्लॉक करने पर मोटर वाहन एक्ट, 1989 के तहत 5,000 रुपये तक का जुर्माना भरना पड़ सकता है। अगर नियम का उल्लंघन दोबारा किया जाता है तो जुर्माने की राशि दोगुना हो जाएगी।

बता दें बता कि इससे पहले दिल्ली पुलिस ने गाड़ियों में रियर व्यू मिरर का इस्तेमाल न करने वालों पर भी स्पेशल चेकिंग अभियान शुरू किया था। अक्सर दोपहिया वाहन चालक अपनी बाइक या स्कूटर से रियर व्यू मिरर हटवा लेते हैं जो सड़क पर बहुत खतरनाक साबित हो सकता है। बाइक पर रियर व्यू मिरर न होने से पीछे से आ रहे वाहन का पता नहीं चलता और ऐसे में दुर्घटनाएं होती हैं। दिल्ली में वाहनों पर हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट (HSRP) के इस्तेमाल को भी अनिवार्य किया गया है। हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट दिखने में एक साधारण नंबर प्लेट से के जैसा ही होता है लेकिन इसकी तकनीकी विशेषताएं इसे अलग बनाती हैं। हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट में क्रोमियम होलोग्राम स्टीकर का इस्तेमाल किया जाता है, जिसमे वाहन से संबंधित जानकारी जैसे रजिस्ट्रेशन नंबर, इंजन नंबर, चेसिस नंबर आदि अंकित होती है।

वाहन पर एक बार यह नंबर प्लेट लग जाये तो इसे निकालना आसान नहीं होता। वाहन पर यह नंबर प्लेट हॉट स्टाम्पिंग के जरिये लगाया जाता है। इसकी खास बात यह है कि एक बार लग जाने पर यह बाहर नहीं आता और निकालने की कोशिश करने पर यह टूट जाता है।

Now the challan will be deducted for those who hang lemon-peppers in the car!

Share This :
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *