Type to search

कृषि कानून का विरोध ‘राजनितिक धोखाधड़ी’, PM Narendra Modi ने विपक्ष को घेरा

जरुर पढ़ें देश

कृषि कानून का विरोध ‘राजनितिक धोखाधड़ी’, PM Narendra Modi ने विपक्ष को घेरा

Share

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन कृषि कानूनों के विरोधियों पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने ‘किसान समर्थक’ कानूनों के विरोध को ‘राजनीतिक धोखाधड़ी’ बताया है. साथ ही पीएम ने दोहाराया है कि सरकार किसानों के साथ चर्चा करने के लिए तैयार है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने किसानों से असहमति पर चर्चा करने बात कही है. उन्होंने कहा, ‘सरकार पहले दिन से कह रही है कि जहां भी असहमति है, सरकार साथ बैठने और उन मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है. इसके संबंध में कई बैठकें हुई, लेकिन अब तक कोई भी असहमति का खास बिंदू लेकर सामने नहीं आया है कि हमे यह बदलाव चाहिए.’

हाल ही में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे किसानों को राजमार्गों से हटाने के लिए सरकार से उपाय करने के लिए कहा था. शुक्रवार को शीर्ष अदालत ने जंतर-मंतर पर ‘सत्याग्रह’ की अनुमति मांग रहे किसान संगठन को फटकार लगाई थी.

अंग्रेजी मैगजीन के साथ बातचीत में पीएम मोदी ने कहा, ‘अगर आप देखें, जो लोग किसान समर्थक सुधारों का विरोध कर रहे हैं, तो आपको बौद्धिक कपट या राजनीतिक धोखाधड़ी नजर आएगी.’ उन्होंने कहा, ‘जब बात आधार, जीएसटी, कृषि कानूनों और सुरक्षा बलों को हथियार देने जैसे गंभीर मामलों पर भी आप ऐसी ही राजनीतिक धोखाधड़ी देख सकते हैं. पहले वादा करो और उसके लिए बहस करो, लेकिन बाद में बगैर किसी नैतिक सूत्र के उसी चीज का विरोध करो.’

उन्होंने आरोप लगाए कि कृषि कानूनों के मौजूदा विरोधी भी पहले यही बदलाव चाहते थे. उन्होंने कहा, ‘ये वही लोग हैं, जो मुख्यमंत्रियों को ठीक वैसा ही करने के लिए कहते थे, जैसा हमारी सरकार ने किया है. ये वही लोग थे जो अपने घोषणापत्र में लिखते थे कि हम वही बदलाव लाएंगे, जो हम लेकर आए हैं.’ उन्होंने कहा, ‘लोगों की इच्छा का आशीर्वाद प्राप्त एक दूसरी पार्टी वही सुधार ला रही है, तो उन्होंने एकदम यू-टर्न ले लिया… हम छोटे किसानों की मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.’

Opposition to agriculture law ‘political fraud’, PM Narendra Modi surrounded the opposition

Share This :
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *